डीएम ने किया चीनी मिल चिलवरिया के पेराई सत्र का शुभारम्भ

बहराइच। जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी, उप जिलाधिकारी सदर सुभाष सिंह धामी, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर डॉ. जंग बहादुर यादव, जिला गन्ना अधिकारी शैलेश कुमार मौर्या, चीनी मिल के मुख्य महाप्रबन्धक पी.एन. सिंह, महाप्रबन्धक गन्ना देवेन्द्र सिंह, वित प्रबन्धक रोशन सिंह, सहायक महाप्रबन्धक महेश सिंह, प्रबन्धक प्रशासन बी.के. दुबे, क्षेत्र पंचायत प्रमुख हुजूरपुर अजीत प्रताप सिंह, भाजपा किसान मोर्चा के जितेन्द्र प्रताप सिंह, जिला पंचायत सदस्य समय प्रसाद मिश्रा सहित प्रगतिशील गन्ना कृषक व क्षेत्रीय गणमान्य एवं संभ्रान्तजनों के साथ विधिवत पूजा अर्चना के पश्चात मिल डोल में गन्ना डाल कर मिल के पेराई सत्र 2022-23 का शुभारम्भ किया। डीएम डॉ. चन्द्र ने मिल के अधिकारियों एवं कर्मचारियों का आहवान्ह किया कि मिल को किसानों के हितों को सर्वाेपरि रखते हुए पूरी प्रतिबद्धता के साथ संचालित करायें।
पेराई सत्र के शुभारम्भ अवसर पर डीएम डॉ. चन्द्र ने चीनी मिल के अधिकारियों को निर्देश दिया कि 30 नवम्बर 2022 तक बाकाया गन्ना मूल्य के सापेक्ष 25 करोड़ रूपये का भुगतान गन्ना कृषकों को कर दिया जाए तथा अवशेष बकाया धनराशि के भुगतान के लिए आवश्यक कार्यवाही करते हुए 10 जनवरी 2023 तक भुगतान कराना सुनिश्चित करें। डीएम ने यह भी निर्देश दिया कि बकाया भुगतान के लिए किसानों से नियमित समन्वय कर प्रभावी कार्ययोजना भी तैयार कर लें।
डीएम डॉ. चन्द्र ने कहा कि प्रदेश के मा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की मंशा है कि प्रदेश के किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य प्राप्त हो जिससे उनके आय में इजाफा हो। डीएम ने कहा कि किसानों की आय को दोगुना करने तथा उन्हें समय से खाद, बीज, पानी व बिजली की सुविधा प्रदान करने के लिए सरकार कटिबद्ध है। सरकार की मंशा है कि सभी किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य प्राप्त हो जिसके लिए सरकार द्वारा मूल्य समर्थन योजना के तहत फसलों का दर निर्धारित किया जाता है। डीएम ने पेराई सत्र के अवसर पर मिल के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए किसानों व मिल प्रबन्धन से अपेक्षा की कि परस्पर सहयोग से मिल का संचालन करायें। इसके उपरान्त जिलाधिकारी डॉ चन्द्र व पुलिस अधीक्षक श्री चौधरी द्वारा एसडीएम, सीओ, जिला गन्ना अधिकारी व चीनी मिल के अधिकारियों के साथ बकाया गन्ना मूल्य भुगतान के सम्बंध में किसानों द्वारा दिये जा रहे धरना स्थल पर पहुंचकर मिल के अधिकारियों द्वारा बकाया गन्ना मूल्य का भुगतान यथाशीघ्र कराये जाने के आश्वासन पर धरना समाप्त कराया गया।