चारा अभाव में गौशाला में ही दम तोड़ रहे हैं गोवंश जिम्मेदार बने अंजान ,विहिप एवं बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने थाना अध्यक्ष पिसावा को दी तहरीर।


सीतापुर- / पिसावाँ थाना क्षेत्र में स्थित मिश्रित ब्लॉक की एक ग्राम पंचायत दधनामऊ में गोमती नदी के तटवर्ती इलाके में ग्राम प्रधान अतुल यादव पुत्र कन्हैयालाल द्वारा स्थापित कराई गई नन्दिनी गौशाला में संरक्षित गौवंशीय पशुओं के जीवन के साथ खिलवाड़ किये जाने का आरोप लगाते हुये विहिप एवं बजरंग दल कार्यकर्ता लवकुश शुक्ला, शुभम पाल, आलोक मिश्रा ने थाना अध्यक्ष पिसावाँ को अपने संयुक्त हस्ताक्षरों से एक तहरीर देकर आरोपी गौशाला संचालक ग्राम प्रधान, पशु चिकित्सक मिश्रित डॉ० विजय नाथ सहित गोवंश काटकर उनके अवशेष एकत्रित करने वाले ग्राम आंट निवासी कमाल पुत्र जमाल के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज करके कड़ी कार्यवाही किये जाने की मांग की है। थाने में तहरीर देने वाले विहिप/बजरंग दल कार्यकर्ताओं का आरोप है की चारा के अभाव में ग्राम दधनामाऊ की नन्दिनी गौशाला में संरक्षित गोवंश आये दिन दम तोड़ रहे हैं और गौशाला संचालक मरणासन्न हुये गौवशो को ग्राम आँट निवासी कसाइयों को उनका वध करके मांस बेचने के लिए दे देता है इसी कारण उक्त कसाई है प्रतिबन्धित प्रजाति के पशु को मारकर मांस निकालने के बाद अवशेष अस्थि पन्जर ठिकाने लगाने के लिये प्रयास कर रहा था जिसको विहिप एवं बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने उस समय रंगे हाथों पकड़ लिया जब वे संगठनात्मक कार्य से क्षेत्र भ्रमण पर थे हिन्दू वादी संगठन के इन कार्य कर्ताओं का यह भी आरोप है कि उन लोगों ने जब नन्दिनी गौशाला का निरीक्षण किया तो वहां लगभग 15 गोवंश मरणासन्न स्थिति में थे जिस पर इन लोगों ने पशु चिकित्सक मिश्रित विजय नाथ को फोन किया लेकिन निरंकुश पशु चिकित्सक ने बजरंग दल कार्यकर्ताओं का फोन रिसीव ही नहीं किया आरोप है की गौशाला में मरणा सन्न गौवशो में इन शिकायतकर्ताओं के आगे ही दम तोड़ दिया है। थानाध्यक्ष पिसावाँ को दी गई तहरीर में रिपोर्ट दर्ज कराकर आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही किये जाने की मांग की है।