एसडीएम अंकल! प्लीज जाम के झाम से मुक्ती दिला दो

एसडीएम अंकल! प्लीज जाम के झाम से मुक्ती दिला दो

6 हजार रुपये में बिक रहा सरकारी फुटपाथ, सरकारी नालियों पर है कब्जा

फोटो-

करहल। एसडीएम अंकल! प्लीज जाम के झाम से मुक्ती दिला दो।जैसे ही दोपहर शुरू होने लगती है। वैसे वैसे कस्वे में जाम की समस्या विकराल रूप धारण करती चली जाती है। स्कूल की छुट्टी के समय जाम के हालात बेहद ही बिकराल होते चले जा रहे है।
बताते चले कि हर दिन जाम की समस्या से स्कूली बच्चो के साथ साथ तीमारदार व बाजार आये दूर दराज से ग्रामीण करहल के जाम के झाम से बेहद ही त्राही त्राही करते हुए नजर आते है। सब्जी मंडी में जाम के हलाटवेस कदर बाद गये है कि दुकानदारों ने सरकारी नाले, फुटपाथ पर कब्जा करके सड़क तक आ गए है। जिससे आम राहगीर व वाहनो को निकलने में भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।
करहल के किशनी चौराहे से लेकर तहसील तिराहे तक कई दुकानदारों ने सरकारी फुटपाथ को 3 हजार से लेकर 7 हजार रूपये तक हथठेले बाले को बेचकर उनसे महीना बंदी वसूलकर जाम का भयंकर हालात पैदा किये जा रहे है। जब स्कूल को छुट्टी होती है तब महेंद्र किशनी चौराहा, पैट्रोल पम्प, चुना वाली गली, सब्जी मंडी, सुभाष गेट, तहसील तिराहा पर जाम की भयंकर हालात उत्तपन्न हो जाते है। जिससे हर व्यक्ति को काफी समस्या होती है। इतना ही नही जाम के झाम में एम्बुलेंस को भी गुजरने के लिए रास्ता नही मिलता है। जब हथठेले बालो से कुछ कहा जाता है तो वह लड़ाई झगड़े पर आमादा हो जाते है।
करहल के लोगो ने उपजिलाधिकारी नीरज द्विवेदी, क्षेत्राधिकारी संतोष कुमार सिंह व थानाध्यक्ष ललित भाटी से करहल में जाम के झाम से मुक्ति दिलाये जाने की मांग की है। क्योकि नगर में जाम की समस्या दिन-ब-दिन विकट होती जा रही है। बड़े वाहन दो पहिया वाहन तो दूर पैदल चलने में भी परेशानी होती है।तमाम दावों के बावजूद इस समस्या का समाधान नहीं किया जा सका। जनप्रतिनिधि व अधिकारी आश्वासन की घुट्टी पिलाते रहे, लेकिन यहां से गुजरने वालों को जाम से मुक्ति नहीं मिली।