यायावर रंग मण्डल की प्रस्तुति सब गोलमाल है पर लोट-पोट हुए श्रोता

बहराइच। उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी लखनऊ व जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में जन सांस्कृतिक एवं सामाजिक विकास संस्थान बहराइच के सहयोग से 19 से 22 जनवरी 2023 तक स्व. ठाकुर हुकुम सिंह किसान स्नातकोत्तर महाविद्यालय के जिम्नेजियम हाल में आयोजित होने वाले संभागीय नाट्य समारोह के तीसरे दिन शनिवार को देर शाम यायावर रंग मण्डल लखनऊ द्वारा आज के व्यस्त और तनावपूर्ण जीवन के बीच समय समय पर स्वस्थ्य मनोरंजन के साथ-साथ सामाजिक मूल्य, नारी विचारो की अभिव्यक्ति, उसका सम्मान और देश प्रेम पर आधारित ??सब गोलमाल है?? नाटक को बेहद प्रभावशाली ढंग से रेखांकित किया गया है।
राजकुमार अनिल द्वारा लिखित व मो. हफीज़ द्वारा निर्देशित ??सब गोलमाल है?? नाटक का सार यह है कि सेठ जी की इकलौती बेटी प्रिया नए जमाने की पढ़ी- लिखी जागरूक लड़की है। सेठ जी के कारोबार से लेकर घर तक की सारी जिम्मेदारी उसके मैनेजर राम जी ने संभाल रखी है। प्रेमपुरी अपनी कवितायें सुना सुना कर प्रिया को इम्प्रेस करने में लगा रहता है जबकि सेठ जी अपनी प्रिया की शादी अपने स्वर्गवासी दोस्त के बेटे मलय कुमार से करना चाहते हैं। एक दिन मलय कुमार प्रिया को देखने आए जाता है। इसी बीच एक दूसरा पागल लड़का भी प्रिया को देखने आ पहुँचता है और वो भी आपने आपको मलय कुमार ही बतलाता है। यहां पर किसी ने मलय कुमार को देखा नहीं है। इसलिए दोनों में असली मलय कुमार कौन है ये फैसला करना मुश्किल हो जाता है।
अंत में सबके सामने ये भेद खुलता है कि वो पागल लड़का पागल नहीं असली मलय कुमार है और दूसरा लड़का मुकेश है, जो मलय कुमार के बचपन का दोस्त है। मुकेश और प्रिया एक दुसरे को पसंद करते हैं और मलय भी यही चाहता है कि मुकेश की शादी प्रिया से हो जाये मलय का चयन भारतीय सेना के लिए हो गया है और वो देश सेवा के लिए बॉर्डर पर जाना चाहता है। मलय के समझने, उसके त्याग और देश प्रेम की भावना से प्रभावित होकर सेठ जी प्रिया का रिश्ता मुकेश के साथ सहर्ष स्वीकार कर लेते हैं।
नाटक में शिवजीत वर्मा ने छटंकी, सुधा पाल ने प्रिया, जारिक इकबाल ने रामजी, राहुल मिश्रा ने प्रेम पूरी, अखिलेश ने मुकेश, सुनील दीक्षित ने मलय कुमार, मोहम्मद हफीज़ ने सेठ जी तथा मंच से परे कीर्ति प्रकाश द्वारा प्रस्तुति नियंत्रण, पुनीत मिततल द्वारा संगीत संचालन, नमन द्वारा मुख सज्जा, सचिन मिश्रा द्वारा प्रकाश, अभियांचल श्रीवास्तव द्वारा मंच व्यवस्था, लक्ष्मी श्रीवास्तव व पुष्प लता द्वारा वेषभूषा तथा अनूप कुमार सिंह द्वारा प्रस्तुति सहायक की भूमिका निवर्हन किया गया।
नाटक के पश्चात बैरोज ब्ल्यू इण्टर कालेज योगासन, एम्स इण्टरनेशनल विद्यालय हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। जबकि भारत निर्वाचन आयोग की ओर से बेस्ट इलेक्टोरल प्रैक्टिस अवार्ड-2022 हेतु जिलाधिकारी डाॅ. दिनेश चन्द्र का चयन होने पर व्यापार मण्डल द्वारा डीएम को पुष्पहार पहनाकर व अंगवस्त्र भेंट कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर डाॅ. पूजा यादव ने डीएम डाॅ. दिनेश चन्द्र के बहुआयामी व्यक्तित्व पर व्याख्यान दिया। समारोह के दौरान यायावर रंग मण्डल लखनऊ के कलाकारों को अंगवस्त्र एवं स्मृति चिन्ह तथा अन्य बाल कलाकारों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया। इसके अलावा बाल कलाकारों के उत्साहवर्धन हेतु उन्हें नकद रूप से भी पुरस्कृत किया गया।
कार्यक्रम का संचालन शिक्षक एवं कवि संतोष सिंह ने किया। इस अवसर पर विधायक महसी सुरेश्वर सिंह व पयागपुर के सुभाष त्रिपाठी, जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र, पुलिस अधीक्षक प्रशान्त वर्मा, मुख्य राजस्व अधिकारी अवधेश कुमार मिश्रा, एसडीएम सदर सुभाष सिंह व कैसरगंज के महेश कुमार कैथल, महसी के राकेश कुमार मौर्या व पयागपुर के दिनेश कुमार, प्राचार्य के.डी.सी. डाॅ. विनय सक्सेना व पूर्व प्राचार्य मेजर डाॅ. एस.पी. सिंह, डीडीओ महेन्द्र कुमार पाण्डेय सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी व खण्ड विकास अधिकारी, व्यापार मण्डल के पदाधिकारी, गणमान्य व संभ्रान्तजन, मीडिया प्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या में रंगमंच प्रेमी मौजूद रहे।