मिट्टी के अवैध खनन पर प्रभावी कार्यवाही करें एसडीएम: जिलाधिकारी

बहराइच। राजस्व कार्यो की मासिक समीक्षा के हेतु शनिवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी डाॅ. दिनेश चन्द्र ने समस्त उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है कि मिट्टी के अवैध खनन पर प्रभावी कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि मिट्टी के अवैध खनन पर प्रभावी अंकुश के लिए व्यापक स्तर पर प्रवर्तन की कार्यवाही की जाय तथा इसके लिए ग्राम स्तर के विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दें। उन्होंने कहा कि मिट्टी के अवैध खनन में शामिल लोगों पर अर्थ दण्ड लगाने के साथ-साथ नियमानुसार दण्डात्मक कार्यवाही भी की जाय।
डीएम डाॅ. चन्द्र ने उप जिलाधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि बैंकों एवं विभागों की ओर से जारी आर.सी. की नियमित अन्तराल पर समीक्षा करते रहें। उन्होंने कहा कि तहसील के बड़े बकायेदारों के विरूद्ध वसूली की कार्यवाही का नेतृत्व स्वयं उप जिलाधिकारी करें। डीएम ने मुख्य राजस्व सहायक को निर्देश दिया कि सभी तहसीलों के सहायकों को बुलाकर जारी की गयी आरसी का मिलान अवश्य कर लिया जाय।
बैठक में कर एवं करेत्तर राजस्व वसूली की मदवार समीक्षा में पाया गया कि माह दिसम्बर 2022 के लिए भू-राजस्व मद के लिए निर्धारित लक्ष्य 26.52 लाख के सापेक्ष 15.89 लाख रू. की वसूली की गयी है जो कि लक्ष्य का 59.92 प्रतिशत है। वाणिज्य कर के लिए निर्धारित लक्ष्य रू. 1709.00 लाख के सापेक्ष 983.93 लाख की वसूली हुई जो लक्ष्य का 57.57 प्रतिशत, स्टाम्प तथा निबन्धन मद में लक्ष्य रू. 1502.00 लाख के सापेक्ष 1974.40 लाख की वसूली हुई जो लक्ष्य का 131.45 प्रतिशत, आबकारी मद में लक्ष्य रू. 3837.00 लाख के सापेक्ष 2914.59 लाख की वसूली हुई जो लक्ष्य का 75.96 प्रतिशत है।
इसी प्रकार बैंक देय मद में लक्ष्य रू. 264.14 लाख के सापेक्ष 274.94 लाख की वसूली हुई जो लक्ष्य का 104.09 प्रतिशत, विद्युत मद में लक्ष्य रू. 2572.09 लाख के सापेक्ष 2691.00 लाख की वसूली हुई जो लक्ष्य का 104.63 प्रतिशत, परिवहन मद में लक्ष्य रू. 578.77 लाख के सापेक्ष 377.22 लाख की वसूली हुई जो लक्ष्य का 65.18 प्रतिशत, वानिकी मद में लक्ष्य रू. 211.26 लाख के सापेक्ष 19.36 लाख की वसूली हुई जो लक्ष्य का 9.16 प्रतिशत, अलौह खनन मद में लक्ष्य रू. 190.00 लाख के सापेक्ष 153.73 लाख की वसूली हुई जो लक्ष्य का 80.91 प्रतिशत, मण्डी समिति मद में लक्ष्य रू. 163.09 लाख के सापेक्ष 158.23 लाख की वसूली हुई जो लक्ष्य का 97.02 प्रतिशत तथा स्थानीय निकाय मद में लक्ष्य रू. 55.61 लाख के सापेक्ष 44.51 लाख की वसूली हुई जो लक्ष्य का 80.04 प्रतिशत है।
इस सम्बन्ध में डीएम डाॅ. चन्द्र ने कर करेत्तर से सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि लक्ष्य के अनुरूप राजस्व वसूली सुनिश्चित करने के लिए प्रभावी स्तर पर प्रवर्तन की कार्यवाही सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि किसी भी विभाग की राजस्व वसूली लक्ष्य से कम नहीं होनी चाहिए। डीएम ने ऐसे विभाग जो अभी लक्ष्य से काफी पीछे हैं उन्हें निर्देश दिया कि वित्तीय वर्ष की समाप्ति में कम समय को देखते हुए वसूली बढ़ाये जाने के लिए सप्ताहवार लक्ष्य निर्धारित करें। बैठक के दौरान डाॅ. चन्द्र ने विभिन्न स्तर से प्राप्त सन्दर्भों की समीक्षा करते हुए उप जिलाधिकारियों और तहसीलदारों को निर्देश दिया कि अविलम्ब निस्तारण सुनिश्चित कराते हुए अनुपालन आख्या प्रेषित करें।
इस अवसर पर मुख्य राजस्व अधिकारी अवधेश कुमार मिश्रा, उप जिलाधिकारी सदर सुभाष सिंह, महसी के राकेश कुमार मौर्या, पयागपुर के दिनेश कुमार, नानपारा के अलित परेश, कैसरगंज के महेश कुमार कैथल व तहसीलदार तथा कर-करेत्तर से सम्बन्धित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।