परसपुर नगर पंचायत में यह देख दंग रह जाएंगे आप, रैन बसेरा या कबाड़ घर

गोण्डा की लोकल खबरें, शोसल मीडिया में वायरल वीडियो की राजन कुशवाहा की यह रिपोर्ट

गोण्डा। परसपुर नगर पंचायत में कड़ाके की ठंडक में राहगीरों व जरूरत मंदो को ठहरने के लिये बनाया गया रैन बसेरा अपनी जर्जरता पर आंसू बहा रहा है। यहां जन सुविधाओं के लिए बनाया गया रैन बसेरा खुद बदहाली का पोल खोल रहा है। अफसरों व जनप्रतिनिधियों के निरंकुश कार्यशैली व उदासीनता के चलते यह रैन बसेरा आज भी उपेक्षित है। बसेरे की जर्जरता एवं भंगार खाने जैसे दृश्य का विडियों शोसल मीडिया पर तेजी वायरल हो रहा है, जो क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। परसपुर नगर के तुलसी धाम भौरीगंज मार्ग पर स्थित श्री हरि संकीर्तन मंडल के नामक धर्मशाला का हाल रैन बसेरे का स्लोगन लेने के बाद बदहाल है। बुद्धिजीवियों का कहना है कि हरि संकीर्तन मंडल के लोगों द्वारा तकरीबन दो दशक के अथक प्रयास से पूर्व प्रधान ने धर्मशाला की भूमि को जनसामान्य के लिये समर्पित किया था। जन चर्चा के अनुसार - तकरीबन साल भर पूर्व इस धर्मशाला के विकास के लिए दुकानें व समाज के लिए उत्सव घर बनाने का जिम्मा जन प्रतिनिधियों ने लिया था। उसके बाद नगर पंचायत के तरफ से यहां रैन बसेरा नामक पोस्टर लगाकर जिम्मेदार अब मौन बने हुए हैं। वहीं सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो किस समय का है, इसका सत्यापन नहीं है। किंतु वायरल वीडियो के जरिये परसपुर नगर पंचायत में एक धर्मशाला व रैन बसेरा होने का दावा किया जा रहा है। इस बावत नगर पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि वासुदेव सिंह का कहना है कि अंदर कमरे में रैन बसेरे की व्यवस्था है।