गोआश्रय स्थल हेतु शासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी ने जिले के अधिकारियों के साथ की बैठक,गोआश्रय स्थलों की व्यवस्थाओं पर जताया संतोष,डीएम के नैपियर घास के नवाचार को बताया सराहनीय

बहराइच। जिले में संचालित गोआश्रय स्थलों की व्यवस्थाओं के पर्यवेक्षण एवं अनुश्रवण हेतु जिले के 03 दिवसीय भ्रमण पर आये शासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी अपर आयुक्त लखनऊ मण्डल घनश्याम सिंह ने बुधवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में जिले के अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए निर्देश दिया कि निर्माणाधीन वृहद गो संरक्षण केन्द्रों का निर्माण कार्य यथाशीघ्र पूर्ण कर स्वच्छन्द वितरण करने वाले गोवंशों को संरक्षित किया जाय। श्री सिंह ने खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिया कि शासन की मंशानुरूप कैटल कैचर के क्रय की कार्यवाही भी यथाशीघ्र पूर्ण कर ली जाय।
बैठक के दौरान नोडल अधिकारी श्री सिंह ने जिले में संचालित गो आश्रय स्थलों में हरे चारे की व्यवस्था हेतु भूमि की उपलब्धता पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए गोवंशों के हरे चारे हेतु डीएम डॉ. दिनेश चन्द्र के नैपियर घास के नवाचार की सराहना की। नोडल अधिकारी ने कहा कि जिले में संचालित गोआश्रय स्थलों की व्यवस्थाएं संतांषजनक पाई गई है फिर भी गोवंशों के हित को दृष्टिगत रखते हुए इनमें और सुघार किया जाय। उन्होंने संरक्षित गोवंशों के शासन की मंशानुसार हरे चारे, भूसा तथा चिकित्सा के बन्दोबस्त कराएं जाने के भी निर्देष दिये। इस अवसर पर जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र, सीएमओ डॉ. एस.के. सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. राजेन्द्र वर्मा, डीडीओ महेन्द्र कुमार पाण्डेय, पीडी डीआरडीए पी.एन. यादव, एसडीएम, बीडीओ, उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी व पशु चिकित्साधिकारी मौजूद रहे।
उल्लेखनीय है कि अपने 03 दिवसीय जनपद भ्रमण के दौरान नोडल अधिकारी श्री सिंह द्वारा जनपद भ्रमण के दौरान अस्थाई गो आश्रय स्थल कसेहरी बुजुर्ग, परसेण्डी, कटरा बहादुरगंज, कान्हा गौशाला नगर पालिका परिषद नानपारा, बृहद गो संरक्षण केन्द्र सेमरहना का निरीक्षण किया गया। यहॉ पर सभी गोवंश टैग लगे हुए स्वस्थ्य पाये गये। शीत से बचाव हेतु सभी टीन शेड को तिरपाल से ढका पाया गया। कहीं-कहीं पर आवश्यकतानुसार अलाव की भी व्यवस्था पायी गई।
इन सभी गौशालाओं में पर्याप्त भूमि उपलब्ध है, जिसमें गोवंशों को विचरण की सुविधा मिल जाती है। सभी गो आश्रय स्थलों के पास पर्याप्त चारा उगाने की भूमि भी उपलब्ध है जिसमें कसेहरी बुजुर्ग, कटरा बहादुरगंज, परसेण्डी में नैपियर घास की बोवाई की गयी है तथा हरे चारे की पर्याप्त व्यवस्था भी पायी गयी। श्री सिंह को बताया गया कि कान्हा गौशाला नगर पालिका परिषद नानपारा में हरे चारे के लिए भूमि उपलब्ध हो गयी है जिसमें शीघ्र ही चारा उगाने की कार्यवाही की जायेगी ।
इसी प्रकार निर्माणाधीन बृहद गो संरक्षण केन्द्र चर्दा, के निरीक्षण के दौरान केन्द्र पर कार्यालय, भूसा गोदाम एवं चार कैटिल शेड का निर्माण कार्य पूर्ण पाया गया। यहॉ पर चारों कैटिल शेड के किनारे से ड्रेनेज हेतु नाली निर्माण के निर्देश दिये गये। नोडल अधिकारी श्री सिंह ने भूसा गोदाम में शटर लगाने तथा कैटिल शेड की पेन्टिंग कराएं जाने के निर्देश दिये गये।