राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर नगला गजुआ में एकल नृत्य एवं युगल नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया गया

संवाददाता-अखलेश लवानिया(हाथरस)

हाथरस।नेहरू युवा केन्द्र, हाथरस द्वारा स्वामी विवेकानन्द के जन्म दिवस पर दिनांक 12 जनवरी से 19 जनवरी 2023 तक राष्ट्रीय युवा दिवस/सप्ताह का आयोजन विभिन्न युवा मण्डलों द्वारा किया जा रहा है राष्ट्रीय युवा दिवस/सप्ताह के अर्न्तगत आज सांस्कृतिक दिवस के अवसर पर नेहरू युवती मण्डल नगला गजुआ के सहयोग से नेहरू युवा मण्डल नगला मोठा के अध्यक्ष सत्यनारायण के नेतृत्व में पंचायत घर नगला गजुआ में एकल नृत्य एवं युगल नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया गया कार्यक्रम में सुनील राना प्रधान पति ने स्वामी जी के चित्र पर मार्ल्यापण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया सुनील राना ने युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानन्द युवाओं के प्रेरणा स्रोत थे, उन्होने कहा था कि उठो जागो और तब तक मत रूको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति न हो हम सभी को उनके बताए मार्ग पर चलकर अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए आगे बढना चाहिए स्वामी विवेकानन्द ने युवाओं को संगठित होकर रहने, चरित्रवान बनने के उपदेश दिये वे युवाओं को राष्ट्र का प्राण मानते थे, उन्होने कहा कि युवाओं को स्वामी जी के बताये आदर्शो का अनुपालन करना चाहिए जिससे युवाओं का मानसिक एवं चारित्रिक विकास हो लक्ष्मी शर्मा अध्यक्षा नेहरू युवती मण्डल हतीसा ने युवाओं को सम्बोघित करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानन्द एक ऐसे संत थे जिनका रोम-राम राष्ट्रभक्त से ओतप्रोत था उन्होने कहा कि स्वामी विवेकानन्द जी ने कभी भी राजनीति में भाग नहीं लिया किन्तु उनके कर्म और चिंतन की प्रेरणा से हजारों ऐसे कार्यकर्ता तैयार हुए जिन्होने राष्ट्ररथ को आगे बढाने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया सत्यनारायण यादव ने युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद भारतीय चितंन परम्परा के प्रतिनिधि हैं विवेकानंद ने खानपान, वेशभूषा, पंथ या धर्म के आधार पर कभी कोई भेद-भाव नहीं किया उन्हें जानना है तो वेदान्त दर्शन को समझना होगा उन्होने कहा कि तर्क शीलता और धर्म का सामंजस्य स्थापित करते ही युवा अपने जीवन को सफल बना सकते हैं युवती मण्डल नगला गजुआ की अध्यक्षा सीमा ने युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि मानसिक गुलामी से मुक्त होकर भारत विश्व गुरू तभी बनेगा जब हम स्वामी विवेकानंद के विचारों को आत्मसात करेंगे एकल नृत्य प्रतियोगिता में 15 प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया एवं युगल नृत्य प्रतियोगिता में 05 टीमों ने प्रतिभाग किया सभी विजेताओं को पुरस्कार एवं प्रमाण-पत्र प्रदान किये कार्यक्रम में भावना, लक्ष्मी, निधि, वन्दना, साम्या, मोहनी, प्रतिज्ञा, अंजली, डौली, मुस्कान, किरन, सुनीता, प्रीती, मीना, नेहा, रूबी, सरिता, ज्योति, राधा, ममता, वीना, सुनीता, मधु, शिल्पी, इन्दु, राखी, साक्षी, विनीता आदि ने भाग लिया कार्यक्रम में ग्रामवासियों का सहयोग सराहनीय रहा।