बाबा रामदेव ने महर्षि पतंजलि के नाम का इस्तेमाल बंद नहीं किया तो देशव्यापी आंदोलन-बृजभूषण सिंह


बाबा रामदेव के प्रोडक्ट पर मचा बवाला
सांसद कैसरगंज ने किया आपत्ति

गोण्डा।योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजलि आश्रम में तैयार की गई गाय के घी पर सवाल उठाकर हड़कम्प मचा दिया जिससे बाबा रामदेव नींद से जग गए है। सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने बाबा रामदेव पर सीधा हमला बोला है कहा कि गोंडा की धरती पर जन्में योग के प्रणेता महर्षि पतंजलि के नाम का इस्तेमाल बंद होना चाहिए। पतंजलि के नाम पर मसाला,दूध,घी और अंडरवियर बनियान बेचने का कारोबार करके महर्षि के नाम का दोहन है। सांसद ने कहा कि आप किसकी अनुमति से इस नाम का इस्तेमाल कर रहे हैं। जिनके नाम का इस्तेमाल कर अरबों खरबों रुपये का व्यापार खड़ा किया गया उनके लिए आपने क्या किया। सांसद ने कहा कि इस नाम का इस्तेमाल बंद करिए। अन्यथा इसको लेकर बड़ा आंदोलन किया जायेगा।
बताते चले पहले देवरिया में और फिर बाराबंकी के एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे कैसरगंज से बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने वहां मौजूद लोगों से अपने घर का घी इस्तेमाल करने की सलाह दी थी। सांसद ने कहा था कि आप रामदेव का घी खाकर स्वस्थ नहीं हो सकते। सांसद के इस बयान पर पतंजलि योगपीठ के निदेशक बालकृष्ण ने आपत्ति जताई थी।
बालकृष्ण के फोन आने के बाद गुरुवार की सुबह सांसद बृजभूषण शरण सिंह तहसील तरबगंज के विकास खण्ड वजीरगंज के कोंडर गांव स्थित महर्षि पतंजलि की जन्मस्थली पर पहुंचे।? सांसद ने कहा कि वह पतंजलि के किसी प्रोडक्ट पर सवाल नहीं खड़ा करते। पतंजलि का घी असली है या नकली इसकी जांच करने के लिए लैब बने हैं।? लेकिन महर्षि पतंजलि के नाम का इस्तेमाल बंद होना चाहिए। सांसद ने कहा कि जिन महर्षि के नाम पर बाबा रामदेव अरबों खरबों का व्यापार कर रहे हैं, उस इस स्थान के विकास के लिए उन्होंने एक पैसा खर्च नहीं किया।
सांसद ने कहा कि मैं दुनिया को बताना चाहता हूं कि जिन महर्षि पंतजलि के नाम अरबों खरबो का व्यापार किया जा रहा है उनकी जन्मस्थली उपेक्षा का शिकार है। सांसद ने सवाल किया कि गोंडा की धरती पर जन्म लेने वाले योग के जनक महर्षि पतंजलि के नाम के इस्तेमाल का अधिकार आपको किसने दिया। सांसद ने कहा कि महर्षि पतंजलि के नाम के इस्तेमाल बंद होना चाहिए। आप अपने नाम से व्यापार करिए। उन्होंने चेतावनी दी अगर बाबा रामदेव ने महर्षि पतंजलि के नाम का इस्तेमाल बंद नहीं किया तो वह इस विषय को लेकर एक देशव्यापी आंदोलन खड़ा करेंगे।इस जन्मस्थली का विकास मेरी जिम्मेदारी है। जनता के सहयोग से यहां महर्षि पतंजलि के भव्य मंदिर का निर्माण कराया जाएगा।
एक दशक पूर्व बाबा रामदेव के गोण्डा आने पर पत्रकारों ने गोण्डा में महर्षि पतंजलि का जन्म भूमि होने व उसके विकास की बात कही थी,बाबा ने उस समय विकास करने का आश्वासन दिया था।लेकिन कुछ नही किया।

पूर्व मंत्री स्वर्गीय विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित ने सपा सरकार में मंदिर और हाल बनवाने का आश्वासन दिया था फिर भी कुछ नही हुआ ।