कन्नौज: अखिलेश ने दिए कन्नौज से लोकसभा चुनाव लडने के संकेत

अटकलों पर पूर्ण विराम, बोले जहा से शुरुआत की वही से लडूंगा 24 का लोकसभा चुनाव

कन्नौज।सपा प्रमुख अखिलेश यादव नेपिता मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद मैनपुरी लोकसभा की रिक्त सीट पर पत्नी डिंपल यादव को उपचुनाव मैदान में उतारकर विरासत सौंप दी है। इसके बाद कन्नौज सीट को लेकर सपा कार्यकर्ताओं में उपजी ऊहापोह को भी उन्होंने शांत कर दिया है। कन्नौज में एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने आए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पत्रकार वार्ता में आने वाले 2024 के चुनाव में कन्नौज संसदीय सीट से उतरने के संकेत दिए हैं।

मैंनपुरी लोकसभा सीट पर उपचुनाव में डिंपल यादव को प्रत्याशी बनाकर नेताजी की विरासत सौंपे जाने के बाद कन्नौज में सपाइयों में ऊहापोह की स्थिति बन गई थी। डिंपल यादव कन्नौज सीट से सांसद रह चुकी हैं और बीते लोकसभा चुनाव में भी सपा ने उन्हें मैदान में कन्नौज से ही उतारा था। उनके मैनपुरी जाने के बाद स्थानीय सपा नेताओं का असमंजस पूर्व मुख्यमंत्री सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने दूर कर दिया।

आज सपा नेता सुनील कुमार गुप्त उर्फ मुन्ना भइया के घर आयोजित निजी कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचेपूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पत्रकारो से बात करते हुए कन्नौज लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के संकेत दिए हैं। डिंपल यादव को मैनपुरी से उपचुनाव से उतारे जाने के बाद कन्नौज सीट को लेकर एक सवाल पर अखिलेश ने कहा कि 2024 में भी चुनाव हैं। हम क्या करेंगे खाली बैठकर। हमारा काम ही चुनाव लड़ना है। जहां से राजनैतिक पारी की शुरुआत की वहां से फिर लड़ेंगे। उल्लेखनीय है कि 1999में मुलायम सिंह के कन्नौज से निर्वाचित होने के बाद उन्होंने इस सीट से त्यागपत्र दे दिया था वर्ष 2000 में हुए उपचुनाव में अखिलेश यादव ने यहा से चुनाव जीतकर अपनी राजनैतिक यात्रा शुरू की थी। अखिलेश 12वर्ष लगातार संसद में कन्नौज का प्रतिनिधित्व करते रहे और प्रदेश के मुख्यमंत्री पद पर आसीन होने के बाद उन्होंने जब त्यागपत्र दिया तो उप चुनाव में उनकी पत्नी डिंपल यहाँ से निर्विरोध निर्वाचित घोषित हुई थी।