एक दशक से बदहाल सड़क की नहीं हुई मरम्मत, राहगीर परेशान

गोंडा।ब्लॉक क्षेत्र की तमाम सड़कें अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रही हैं।सरकार जहां गांव के लोगों को आवागमन की बेहतर सुविधा देने के लिए सड़कों की मरम्मत कराकर चकाचक करने की बात कर रही है, वहीं धरातल पर ग्रामीण सड़कों का बुरा हाल है।अधिकतर सड़कें गड्ढे में तब्दील होकर राहगीरों के लिए मुसीबत का सबब बनी हुई हैं।इटियाथोक ब्लॉक क्षेत्र अंतर्गत चुरिहारपुर से गजाधर पुर-कोल्हुआ गांव होते हुए विशुनपुर तिवारी व लखनीपुर गांव को जाने वाली सड़क जगह-जगह टूटकर गड्ढों में तब्दील हो गई है।ग्रामीणों की मानें,तो करीब एक दशक पहले सड़क निर्माण कराया गया था।पिछले एक दशक में कोई मरम्मत का कार्य नहीं हुआ है।राहगीर किशन वर्मा, विजय, संजय, मुर्तुजा, अनीश, रोजअली व जोखू राम आदि ने बताया कि सड़क जर्जर होने के चलते आए दिन राहगीर चोटहिल भी हो रहे हैं।यह सड़क दर्जनों गांवों के लोगों को बाबागंज मुख्य सड़क मार्ग से जोड़ती है।इतना सब होने के बावजूद गड्ढामुक्त योजना में भी कोई कार्य नहीं करवाया गया। ग्रामीणों की मानें तो इस मार्ग की मरम्मत के लिए जनप्रतिनिधियों तथा जिले के अधिकारियों से कई बार मार्ग के मरम्मत की गुहार लगाई गई। लेकिन अब तक इस सड़क की किसी ने सुधि नहीं ली