विधानसभा उप निर्वाचनव्यय प्रेक्षक ने ली राजनीतिक दल व अभ्यर्थियों की बैठक

उत्तर बस्तर कांकेर 22 नवंबर 2022ः- विधानसभा भानुप्रतापपुर के उप निर्वाचन के परिप्रेक्ष्य में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त व्यय प्रेक्षक श्री प्रवीण रेड्डी ने आज चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों के प्रतिनिधि एवं राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियो की बैठक लेकर निर्वाचन में होने वाले व्यय के लेखा के संधारण के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि प्रत्येक अभ्यर्थी द्वारा चुनाव से लिए पृथक से बैंक एकाउंट खोला गया है, उसी एकाउंट से ही खर्च किया जाना है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन में 10 हजार रूपये तक ही नगद भुगतान की जा सकती है तथा उससे ज्यादा का भुगतान चेक या डिमांड ड्रॉफ्ट आदि के माध्यम करना होगा अर्थात् नगद भुगतान नहीं किया जा सकता। निर्वाचन के दौरान अभ्यर्थी व राजनीतिक दलों द्वारा की जाने वाली रैली, जुलूस, आमसभा इत्यादि की अनुमति लेनी होगी। रैली, जुलूस, आमसभा का वीडियोग्राफी कराया जायेगा, जिसका अवलोकन किया जाकर अभ्यर्थी के खर्च में जोड़ा जायेगा। वाहन की भी अनुमति लेनी होगी तथा उसमें अनुमति पत्र को चस्पा करना होगा। यदि किसी वाहन में अभ्यर्थी अथवा राजनीतिक दल का पोस्टर लगा होगा तो उसे भी संबंधित अभ्यर्थी, राजनीतिक दल का मानते हुए उसके खर्च में जोड़ा जायेगा। उनके द्वारा फ्लाइंग स्कॉट टीम, सी-विजिल ऐप और मीडिया मॉनिटरिंग सर्टिफिकेशन कमेटी द्वारा की जा रही निगरानी की जानकारी भी दी गई तथा बताया गया कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में विज्ञापन प्रसारित करने के लिए अनुमति आवश्यक है। कोई भी राजनीतिक दल या अभ्यर्थी मतदान एवं मतदान के एक दिवस पूर्व बिना एमसीएमसी के प्रमाणीकरण के प्रिंट मीडिया में विज्ञापन प्रकाशित नहीं करा सकेगा। पेड न्यूज पाये जाने पर निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार विधिवत कार्यवाही किया जायेगा। पोस्टर, पाम्पलेट में प्रकाशक एवं मुद्रा का नाम तथा प्रकाशित सामग्री की संख्या का उल्लेख किया जाना भी आवश्यक है। अभ्यर्थी के विरूद्ध अपराधिक प्रकरण दर्ज होने पर उन्हें तीन बार प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में इसका प्रसारण कराने के संबंध में भी जानकारी दिया गया।
व्यय प्रेक्षक श्री प्रवीण रेड्डी ने कहा कि निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थियों को चुनाव के दौरान तीन बार निर्वाचन व्यय का लेखा परीक्षण कराना आवश्यक है। चुनाव लड़ने वाले सभी अभ्यर्थियों को निर्वाचन में अब तक हुए व्यय का परीक्षण 23 नवम्बर को कराने निर्देश भी उनके द्वारा दिये गये। बैठक में इंडियन नेशनल कांग्रेस के प्रतिनिधि सुनील गोस्वामी, भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधि नंदकुमार ओझा, निर्दलीय प्रत्याशी दिनेश कुमार कल्लो, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के प्रतिनिधि, रिटर्निंग ऑफिसर श्री सुमीत अग्रवाल, उप जिला निर्वाचन अधिकारी धनंजय नेताम, वरिष्ठ कोषालय अधिकारी एवं व्यय अनुवीक्षण मॉनिटरिंग के नोडल अधिकारी रामानंद कुंजाम, जनसंपर्क विभाग के उप संचालक एवं एमसीएमसी के नोडल अधिकारी सुरेन्द्र कुमार ठाकुर, कंट्रोल रूम प्रभारी अधिकारी पी.एल. दिल्लीवार, लेखा अधिकारी लारेंस कुमार, सहायक व्यय प्रेक्षक राकेश सिंह, मास्टर ट्रेनर्स सुरेश श्रीवास्तव एवं नवरतन साव सहित कंट्रोल रूम, एमसीएमसी,वीडियो निगरानी टीम के सदस्य मौजूद थे