अभिमुखीकरण कार्यशाला में प्रशिक्षित की गई ब्लाक रिस्पान्स टीम

बहराइच। शत-प्रतिशत लक्षित बच्चों के लिए जनपद में संचालित नियमित टीकाकरण कार्यक्रम को शासन की मंशानुसार सफल बनाए जाने के उद्देश्य से जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में एक दिवसीय ब्लाक रिस्पान्स टीम की जनपद स्तरीय अभिमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने कहा कि मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाएं जाने तथा नवजात बच्चों को नाना प्रकार की जानलेवा बीमारियों से बचाव हेतु टीकाकरण कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है।
कार्यशाला में मौजूद स्वास्थ्य एवं बाल पुष्टाहार विभाग के अधिकारियों को डीएम ने निर्देश दिया कि विशेष विषेशज्ञों से टीकाकरण के तकनीकी पहलुओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर लें ताकि आप की देख-रेख में शासन की मंशानुरूप अभियान परवान चढ़ सके। डीएम ने सम्बन्धित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि लोगों को टीकाकरण के लाभों की जानकारी दी जाए ताकि सभी परिवार स्वप्रेरित होकर अपने बच्चों का टीकाकरण कराएं।
डीएम ने मौजूद अधिकारियों को निर्देश दिया कि नियमित टीकाकरण के साथ-साथ संचारी रोग नियंत्रण अभियान को भी पूरी शिद्दत के साथ संचालित किया जाए। लोगों को इस बात की जानकारी दी जाए कि घरों के आस-पास गन्दगी न रखें, फुल आस्तीन के कपड़े पहने तथा मच्छरदानी का प्रयोग करें। डीएम ने कहा कि लोगों को यह भी जानकारी दी जाय कि यदि किसी व्यक्ति को बुखार जैसे लक्षण हों तो तत्काल स्वास्थ्य केन्द्र पर जाकर चिकित्सक से उचित परामर्श प्राप्त करें।
मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए डीएम ने आमजन को जागरूक करने के साथ-साथ जिम्मेदार अधिकारियों को निर्देश दिया कि एंटीलार्वा का छिड़काव तथा नियमित रूप से फागिंग कराएं तथा ग्राम की साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान दें। डीएम द्वारा प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिए गए कि स्वास्थ्य केन्द्रों पर तैनात डाक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाफ अनिवार्य रूप से तैनाती स्थल पर निवास कर शासन की मंशानुसार आमजनमानस को अनुमन्य चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराएं। डीएम ने चिकित्सकों को सचेत किया कि अनावश्यक रूप से मरीज़ों को रेफर की कार्यशैली में बदलाव लाएं। अपने पदेन दायित्वों का निर्वहन इस प्रकार से करे कि आमजन को लाभ पहुॅचे। मरीज़ों को बाहर की दवा न लिखी जाए अन्यथा सम्बन्धित के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, मुख्य राजस्व अधिकारी अवधेश कुमार मिश्र, मुख्य कोषाधिकारी अशोक कुमार प्रजापति, जिला पंचायत राज अधिकारी उमाकान्त पाण्डेय, जिला कार्यक्रम अधिकारी राज कपूर, प्रभारी चिकित्साधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, यूनीसेफ के प्रतिनिधि व अन्य सम्बन्धित मौजूद रहे।