एडीएम की अध्यक्षता में मिहींपुरवा मे आयोजित हुआ संपूर्ण समाधान दिवस,एडीएम ने की अध्यक्षता तो समाधान दिवस में बैठे दिखे एसडीएम 

बहराइच - मिहींपुरवा सरकार की मंशा के अनुरूप हर पहले तथा तीसरे शनिवार को प्रत्येक तहसीलों में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन होता है । संपूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर एक साथ सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित रहते हैं । जिससे जनता को सुलभ और आसान न्याय मिल जाता है । लेकिन पिछले पिछले दो संपूर्ण समाधान दिवसों में मिहींपुरवा तहसील में समाधान दिवस की अध्यक्षता करने की जगह एसडीएम मिहींपुरवा अनुपस्थित रहा करते थे । मात्र औपचारिकता निभाने हेतु कोई अधीनस्थ कर्मचारी संपूर्ण समाधान दिवस निपटा दिया करते थे । पिछले दो बार आयोजित होने वाले समाधान दिवस में अधिवक्ताओं तथा पत्रकार बंधुओं ने अव्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाई । खबर छपने के बाद व्यवस्था बदली और जिला अधिकारी ने मिहींपुरवा तहसील में आयोजित होने वाले संपूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता के लिए एडीएम मनोज कुमार को भेजा । शनिवार को आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में अध्यक्षता करने जब एडीएम मनोज कुमार पहुंचे तो उच्च अधिकारी के पहुंचने पर मजबूरी बस एसडीएम मिहींपुरवा ने भी संपूर्ण समाधान दिवस में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई । लगातार दो बार से आयोजित होने वाले संपूर्ण समाधान दिवस में तहसील में उपस्थित होने के बावजूद न बैठने वाले एसडीएम आज जब समाधान दिवस में बैठे दिखे तो यह आम जनों के बीच चर्चा का विषय रहा।

एडीएम मनोज कुमार की अध्यक्षता में संपन्न हुआ तहसील दिवस


मिहींपुरवा तहसील के गल्ला मंडी परिसर में एडीएम मनोज कुमार की अध्यक्षता में तहसील दिवस का आयोजन किया गया । तहसील दिवस मे कुल 31 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए । सभी प्रार्थना पत्रों को निस्तारण के लिए संबंधित अधीनस्थ अधिकारियों के पास अग्रेषित कर दिया गया । तहसील दिवस में एसडीएम मिहींपुरवा ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी, तहसीलदार डा. सुनील कुमार, विकास विभाग के लक्ष्मण प्रसाद गौड़, मिहींपुरवा चौकी इंचार्ज उमेश चंद्र, लेखपाल रवि वर्मा, मुकेश यादव, विमलेश यादव, लाल बहादुर शुक्ला समेत संबंधित विभागों के सभी अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे ।