बस्तर मे मानवता को शर्मसार करने वाली घटना बर्दास्त नहीं - शुभम नाग बजरंग दल*   

कांकेर। बस्तर संभाग जैसे शांति प्रिय क्षेत्र मे लगातार मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना घट रही है जानकारी के मुताबिक, पीजी कॉलेज की छात्रा ने कांकेर कोतवाली थाना में दुष्कर्म की शिकायत दर्ज कराई हैं पीड़िता के मुताबिक एनएसयूआई महासचिव रुहाब मेमन ने छात्रा को कॉलेज में दाखिला दिलाने के नाम पर उससे उसका मोबाइल नंबर लिया था और धीरे धीरे रुहाब मेमन पीड़िता से नजदीकियां बढ़ाने लगा और बीते बुधवार को पढ़ाई के विषय मे बात करने के बहाने पीड़िता को कांकेर घड़ी चौक बुलाया यहां पर अपनी कार में बैठाकर उसे सिंगारभाठ के जंगल ले गया और फिर जबरदस्ती रेप किया घटना के बाद पीड़िता को छोड़ अपनी गाड़ी से फरार हो गया इस घटना के बाद पीड़िता जैसे तैसे कोतवाली थाने पहुंची और इसकी शिकायत दर्ज कराई इस प्रकार की अमानवीय कृत्य मे आये दिन बढ़ोतरी हुई है गत दिन नारायणपुर की ऐसी घटना सामने आयी देखने को मिला था राजनीती की शरण लेकर इस प्रकार दुराचारी लोग ऐसे घिनौनी कृत्य को अंजाम दे रहे है हमेशा से हिन्दू समाज की बहन बेटियों को इसका शिकार बनाया जा रहा हैं ना जाने कितने ऐसे लोग होंगे जो केवल डर और राजनीती भय के कारण अपनी समस्याओं पर पर्दा डाले हुए है इस प्रकार की सभी घटनाओ पर बजरंग दल कड़ी निंदा करती है और शासन प्रसासन की इस सुस्त रवैया से उन्हें चेतावनी देता है की इस प्रकार के उपद्रवि लोग जो राजनीती की फायदा उठाकर इस तरह कृत्य को अंजाम देते है, और वर्तमान कृत्य के दोषी एनएसयूआई महासचिव रुहाब मेमन जो अपने आप को छात्र नेता मानता है उसके ऊपर कड़ी कार्यवाही करे ठोस सजा दे अन्यथा बजरंग दल प्रदेश व्यापी स्तर पर प्रदर्शन आंदोलन करने हेतु बाध्य होगा तथा ये प्रशासन को अवगत रहे की इस तरह की घटना वह किसी भी समाज की हमारे बहन हो बजरंग दल बर्दास्त नहीं करेगा समाज की सम्पूर्ण रक्षा के लिए बजरंग दल सदैव समाज के साथ खड़ा था है और आगे भी रहेगा। शिवसेना नेता सुखचंद मंडावी द्वारा प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कांकेर मैं कॉलेज छात्रा से बलात्कार के आरोपी रोहाब मेंमन को तत्काल फांसी की सजा देने की मांग किया है। विदित हो कि स्वयंभू छात्र नेता, असामाजिक तत्व जिसका कई गंभीर अपराध का रिकॉर्ड है के द्वारा कांकेर में एक कॉलेज छात्रा को शिक्षा के कार्य हेतु बुलाकर कांकेर के जंगल में ले जाकर के बलात्कार किया गया जो कि एक गंभीर जघन्य अपराध है। शिवसेना सरकार से मांग करती है कि इस पूरे बलात्कार कांड की एसआईटी से जांच कराकर बलात्कारी रहाब मेमन को तत्काल फांसी की सजा दिया जाए।