ग्राम पंचायत कार्यालय सुविधा केंद्र से वंचित हैं ग्राम पंचायत के मूलनिवासी*

*ग्राम पंचायत कार्यालय सुविधा केंद्र से वंचित हैं ग्राम पंचायत के मूलनिवासी*

*सचिव ग्राम पंचायत सरपंचों की गुलामी कर घरों में खुलते हैं सुविधा केंद्र: के पी सिंह बुंदेला*

पन्ना: वरिष्ठ समाज सेवक के पी सिंह बुंदेला द्वारा प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि पन्ना जिले की ग्राम पंचायतों में जन सुनवाई सुविधा को देखते हुए शासन प्रशासन द्वारा ग्राम पंचायत कार्यालय को सुविधा केंद्र के रूप में बनाया गया है जिसका बकायदा प्रचार प्रसार कर आम जनता को जानकारी दी गई है पर भ्रष्टाचार के चलते कभी कभार ही ग्राम पंचायत कार्यालय खुलते हैं सरपंच सचिव को कठपुतली बनाकर अपने घर में ही शासन की योजनाएं चलाते हैं अपने लोगों को ही सुविधाएं प्रदान की जाती हैं।

मामला जनपद पंचायत पन्ना के अंतर्गत ग्राम पंचायत बख्तरी का है जिस पंचायत में भ्रष्टाचार करने की एक मिसाइल पैदा हो चुकी है अगर सचिव मन मुताबिक कार्य नहीं करता है तो सरपंच जिला पंचायत से मन मुताबिक राशि देकर अपने पसंद का सचिव का ट्रांसफर करा लेते हैं। जानकारी हो कि ग्राम पंचायत बख्तरी में 1 वर्ष पूर्व गणेश प्रसाद कुशवाहा सचिव का भ्रष्टाचार को देखते हुए आम जनता द्वारा ग्राम पंचायत बख्तरी में तालाबंदी की गई थी प्रशासन सतर्कता अपनाकर भ्रष्टाचार की जांच ना कर तत्काल प्रभाव से स्थानांतरण कर दिया गया स्थान पर रामकुमार उपाध्याय को नियुक्त कर दिया गया श्री उपाध्याय का 1 वर्ष का कार्यकाल पूरा ही हुआ था कि नवीन महिला सरपंच के पति पप्पू राजा द्वारा द्वारा जिला पंचायत से सेटिंग कर अपना मन मुताबिक सचिव धन प्रसाद का ट्रांसफर करा लिया एवं कार्यालय अपनी निजी निवास में खुलते हैं जनता को प्रशासकीय बॉडी सचिव से मिलने का मौका ही नहीं दिया जाता आम जनता त्रस्त है सचिव धन प्रसाद सूचना के अधिकार के मौलिक अधिकार को ठेंगा दिखाता है आवेदन पत्र लेने से मना कर दिया गया जिसकी शिकायत सीएम हेल्पलाइन 181 शिकायत क्रमांक-19884525 मैं दर्ज कराई गई है।

आम जनता पूर्व सचिव राम कुमार उपाध्याय को स्थाई स्थान पर बख्तरी में रखने की मांग की गई है अगर 1 माह के अंतर्गत सचिव धन प्रसाद को का ट्रांसफर नहीं हुआ तो ग्राम पंचायत कार्यालय में पुनः तालाबंदी की कार्यवाही आम जनता करेगी।

यह आंदोलन वरिष्ठ समाज सेवक अध्यक्ष राष्ट्रीय खाद आपूर्ति मजदूर संघ पन्ना एवं संयोजक आदिवासी बनवासी दलित क्रांति सेना के पी सिंह बुंदेला के नेतृत्व में होगा।