बरेली: FB से की दोस्ती फिर शादी रचाने के लिए बन गया फर्जी दरोगा, ऐसे हुआ बेपर्दा...

�बरेली में थाना कोतवाली पुलिस ने गुरुवार को फर्जी दरोगा गिरफ्तार किया है। जिसने बरेली में रहने वाली अधिवक्ता से पहले फेसबुक पर दोस्ती की। जिसके बाद शादी करने की बात कहकर आज उससे मिलने आया था। लेकिन बातचीत में शक होने पर अधिवक्ता ने कोतवाली पुलिस को इसकी सूचना दी।वहीं पुलिस की पूछताछ में फर्जी दरोगा की पोल खुल गई। वहीं आरोपी के पास से एक उत्तर प्रदेश पुलिस का पहचान पत्र भी मिला है। अधिवक्ता ने बताया कि बीते दिनों फेसबुक पर एक फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी, जिसे उसने एक्सेप्ट कर लिया। इस बीच बातचीत के दौरान फर्जी दरोगा ने अपना नाम वाराणसी निवासी सत्यम त्रिपाठी बताया और खुद को 2019 के बैच का बताते हुए अपनी पोस्टिंग लखनऊ के हजरतगंज थाने में बताई।साथ ही खुद को ब्राह्मण बताते हुए अधिवक्ता से शादी करने का प्रस्ताव रखा। जिस पर अधिवक्ता ने घर आकर परिवार के लोगों से बातचीत करने की बात कही। इस दौरान आरोपी ने बताया कि उसके पिता सीओ थे और कार एक्सीडेंट में मां-पिता दोनों की मौत हो चुकी है, उसके मामा ने उसका पालन पोषण किया है। वहीं गुरुवार सुबह को अधिवक्ता से मिलने के लिए फर्जी दरोगा वर्दी में बरेली पहुंच गया।इस दौरान बातचीत में अधिवक्ता को उस पर शक हुआ तो एक परिचित दरोगा को असलियत जानने के लिए इसकी जानकारी दी। वहीं जब उन्होंने पुलिस लाइन में उससे पूछताछ शुरू की तो फर्जी दरोगा भागने लगा, जिसे दौड़ाकर पकड़ लिया गया। इस बीच सूचना पर पहुंची कोतवाली पुलिस फर्जी दरोगा गिरफ्तार करके अपने साथ ले गई। जहां पुलिस उससे पूछताछ में जुटी हुई है।