निर्वाचन व्यवस्थाओं की समीक्षा के लिए डीएम की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई बैठक

बहराइच। जनपद में नगर निकाय सामान्य निर्वाचन-2020 को स्वतन्त्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराये जाने के लिए निर्वाचन की विभिन्न व्यवस्थाओं के लिए तैनात किये गये प्रभारी व सहायक प्रभारी अधिकारियों के साथ बुधवार को देर शाम आयोजित बैठक में अब तक की गयी तैयारियों की गहन समीक्षा की गई। जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने सभी प्रभारी अधिकारियों को निर्देश दिया कि निर्वाचन जैसे अतिमहत्वपूर्ण कार्य को राज्य निर्वाचन आयोग की मंशानुरूप सम्पन्न कराये जाने को एक चुनौती के रूप में स्वीकार करें तथा यह सुनिश्चित करें कि सभी कार्य समयबद्धता के साथ अन्जाम दिये जायें।
मतदान कार्मिक, मत पेटिका, यातायात, प्रशिक्षण, मतपत्र, लेखन सामग्री, निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण, सूचनाओं का आनलाईन प्रेषण, निर्वाचन कन्ट्रोल रूम, बैरीकेटिंग, प्रकाश, वीडियोग्राफी एवं फोटोग्राफी, एमसीएमसी, निर्वाचन प्लान इत्यादि व्यवस्थाओं के लिए नियुक्त किये गये प्रभारी अधिकारियों से एक-एक कर जिलाधिकारी ने अब तक की गयी प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त करते हुए संतोष व्यक्त किया। डीएम डॉ. चन्द्र ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रत्येक स्तर पर राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि निर्वाचन के सम्बन्ध में सौपी गयी जिम्मेदारियों को पूरा करने में अपने-अपने अनुभव का भी फायदा उठायें।
मतदान कार्मिक व्यवस्था कार्य की समीक्षा के दौरान डीएम ने निर्देश दिया कि कार्मिकों की नियुक्ति, प्रशिक्षण इत्यादि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। डीएम ने निर्देश दिया कि मत पत्र के माध्यम से होने वाले निर्वाचन के दृष्टिगत कार्मिकों हेतु प्रशिक्षण के माकूल बन्दोबस्त किए जाए तथा समय रहते ही प्रशिक्षण स्थल के चयन के साथ साथ मतपेटिका की तैयारी का कार्य भी पूर्ण कर लिया जाए। लेखन सामग्री व्यवस्था के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि मतदेय स्थलों की संख्या के अनुसार प्रपत्रों की उपलब्धता के लिए संख्यात्मक विवरण तैयार कर लिया जाय। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि मतपत्र का नमूना तैयार करते समय अभ्यर्थियों के नामों को अंकित करने में पूरी सावधानी बरती जाय ताकि इनमें किसी प्रकार की त्रुटि न रहने पाये।
जिला निर्वाचन योजना/सांख्यिकी सूचना के सम्बन्ध में डीएम ने निर्देश दिया कि बुकलेट की तैयारी में भी ऐसी ही बातों का ख्याल रखें ताकि सभी विवरण पूरी तरह से शुद्ध रहें। शिकायत प्रकोष्ठ को पूरी मुस्तैदी के साथ संचालित करते रहने का निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि सभी सक्षम स्तर पर सूचनाओं का प्रेषण समय से किया जाय। साथ ही प्राप्त शिकायतों का निस्तारण भी समयबद्ध ढंग से किया जाय। डीएम ने अन्य व्यवस्थाओं की भी समीक्षा की और प्रभारी अधिकारियों को निर्देश दिया कि सौंपे गये कार्याे को समय से पूर्ण कराएं और आवश्यकतानुसार उसकी रिपोर्टिंग भी समय से करते रहें। जिलाधिकारी ने कहा कि उन्हें आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि सभी अधिकारी जिन्हें पूर्व में भी ऐसे चुनौतीपूर्ण कार्याे को सम्पन्न कराये जाने का अनुभव, विधान सभा निर्वाचन के लिए सौपी गयी जिम्मेदारियों का निर्वहन कर जनपद में फ्री एण्ड फेयर इलेक्शन सम्पन्न कराएंगे।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, अपर जिलाधिकारी मनोज, उप जिलाधिकारी सदर सुभाष सिंह धामी व पयागपुर के दिनेश कुमार, अतिरिक्त मजिस्ट्रेट राकेश कुमार मौर्या, जिला विकास अधिकारी महेन्द्र कुमार पाण्डेय, वरिष्ठ कोषाधिकारी अशोक कुमार प्रजापति, पुलिस क्षेत्राधिकारी पयागपुर राजीव कुमार सिसोदिया, पीपीएस प्रशिक्षु आनन्द कुमार राय, उप निदेशक कृषि टी.पी. शाही, उपायुक्त मनरेगा सहित अन्य व्यवस्थाओं के लिए नामित अधिकारी अधिकारीगण मौजूद रहे।