राजस्थान/चितौड़गढ़ - 16 साल को नाबालिग को बंधक बना कर किया दुष्कर्म,पुलिस ने आरोपी को डिटेन किया

चित्तौड़गढ़। जिले के बिजयपुर थाना क्षेत्र में नाबालिग को बंधक बना कर दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। विरोध करने पर आरोपी ने हैवानियत करते हुवे उसके हाथ पर शराब की बोतल तक फोड़ दी। बाद में आरोपी बेहोश हालत में पीड़िता को बंधक बना कमरे में बंद कर फरार हो गया। इसकी जानकारी मिली तो लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया। लोगों ने घटना के विरोध में सोमवार को बाजार बंद रखे। वहीं पुलिस ने तत्परता दिखाते हुवे आरोपी को हिरासत में ले लिया है। मामले की सूचना पर मंगलवार दोपहर में गंगरार डिप्टी झाबरमल मौके पर पहुंचे। इस दौरान बिजयपुर के व्यापारियों ने इच्छा से सभी दुकानें बंद रख कर आरोपी को कड़ी सजा देने की मांग की।

विजयपुर थानाधिकारी हमेरलाल ने बताया कि थाना क्षेत्र में रहने वाली नाबालिग सोमवार सुबह पास की दुकान पर पेन लेने गई थी। वहां से आते समय आरोपी देवेंद्र सिंह पुत्र प्रहलाद सिंह ने उसका हाथ पकड़ कर रुमाल से मुंह दबा एक कमरे में ले गया और बंधक बना कर रखा। नाबालिग के साथ उसने पहले दुष्कर्म का प्रयास किया। बालिका ने इसका विरोध किया तो उसके सर पर कांच की बोतल फोड़ दी और उसके हाथ बांध कर कपड़े फाड़ दिए। आरोपी ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया। बाद में पीड़िता को शराब पिलाने की कोशिश की। बाद में आरोपी कमरे के बाहर ताला लगा कर चाबी अंदर फेंक कर भाग निकला। शाम को जब आरोपी का भाई वहां आया तो उसने दरवाजा बंद देखा। अंदर देखा बालिका ने आवाज लगाई और बाहर चाबी भी फेंकी। आरोपी के भाई ने दरवाजा खोला तो बालिका बाहर आई। उसके बाद नाबालिग घर भाग कर गई वहां जाकर उसने अपनी मां को सारी बात बताई। इसके बाद मां ने पुलिस को इस बात की सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस की टीम सक्रिय हुई और आरोपी को तलाश की। आरोपी देवेंद्र सिंह को चित्तौड़ शहर से डिटेन कर लिया। इसके बाद रात को बालिका का बयान दर्ज कर रात को ही मेडिकल करवाया गया। थानाधिकारी हमेरलाल ने बताया कि पुलिस ने अपहरण, दुष्कर्म, पॉक्सो एक्ट सहित 8 धाराओं में मामला दर्ज किया गया। इधर, घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों को दी। इस पर मंगलवार को गंगरार डिप्टी झाबरमल तुरंत विजयपुर थाना पहुंचे और मौका मुआयना किया। वहीं, विजयपुर क्षेत्र के सभी व्यापारियों ने अपनी-अपनी दुकानें बंद रख थाने के बाहर प्रदर्शन करते हुए आरोपी को सख्त से सख्त कार्रवाई करने की मांग की.