OB कम्पनियों के आने से हो रहा श्रमिकों का शोषण।।

OB कम्पनियों के आने से हो रहा श्रमिकों का शोषण।।


देश के उद्योगों में अग्रणीय कोयला उद्योग की मिनी रत्न कंपनी एनसीएल परियोजनाओं में आउटसोर्सिंग (ठेका) में कार्यरत मजदूरों का ठेकेदारों द्वारा भरपूर शोषण किया जा रहा है। ओबी निकालने वाली कंपनियों मे ठेकेदारी के माध्यम से कराए जा रहे कार्य इन सभी में भर्ती से लेकर मजदूरी, ईपीएफ/सीएमपीएफ, बोनस, एरियर,सुरक्षा उपकरणों, हाजिरी, ओटी, संडे, पेड हॉलिडे, चिकित्सा सुविधाएं, आकस्मिक दुर्घटनाओं, साप्ताहिक(रेस्ट) व वार्षिक अवकाश के पैसे, 12 घंटेकार्य आदि में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर बढ़ रहा है। लेकिन आज तक इस ओर क्षेत्र के परियोजनाओं में कार्यरत मान्यता प्राप्त ट्रेड यूनियनों, इन परियोजनाओं में कार्यरत उच्च अधिकारियों, शासन प्रशासन के लोगों व जनता द्वारा चुने गए नेताओं, जनप्रतिनिधियों का ध्यान इस ओर नहीं पहुंच रहा है क्योंकि ए सभी इन ठेकेदारों के चंद रुपयों लिफाफे में बिके हुए है और आंखों पर काली पट्टी बांधे हुए हैं। जिससे श्रमिकों का शोषण चरम सिमा पर है जिसका पुरजोर से विरोध करते हुये लेबर कमिशनर से न्याय की गुहार लगायी है।