त्रिपुरारी पाण्डेय कि रिपोर्ट/गायत्री शक्तिपीठ अमेठी में स्वामी विवेकानंद जयन्ती पर युवा दिवस कार्यक्रम का हुआ आयोजन*

*गायत्री शक्तिपीठ अमेठी में स्वामी विवेकानंद जयन्ती पर युवा दिवस कार्यक्रम का हुआ आयोजन*

*युवा दिवस पर गायत्री शक्तिपीठ अमेठी में युवा प्रकोष्ठ के जनपदीय कार्यालय का उद्घाटन*

*आज युग पुकारता, जाग नौजवान रे संगीत से उत्साहित हुए युवा*

अमेठी। 12 नवंबर 2022
स्वामी विवेकानंद की जयंती पर आयोजित युवा दिवस समारोह में गायत्री शक्तिपीठ अमेठी मेंयुवा प्रकोष्ठ जनपदीय कार्यालय का उद्घाटन हुआ। समारोह में बड़ी संख्या में आये युवाओं ने युगपुरुष स्वामी विवेकानंद के जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए राष्ट्र के नव निर्माण में अपनी सक्रिय भूमिका निभाने का संकल्प लिया।
युवाओं को संस्कृति और संस्कार से जोड़कर एक नई दिशा देकर परिवार, समाज व राष्ट्र के नव निर्माण में अग्रणी भूमिका निभाने जैसे विशिष्ट उद्देश्यों को लेकर गायत्री शक्तिपीठ अमेठी में युवा प्रकोष्ठ जनपदीय कार्यालय का उद्घाटन जनपदीय युवा प्रभारी डॉ प्रवीण सिंह दीपक के नेतृत्व में सम्पन्न हुआ। युवा प्रकोष्ठ प्रभारी डॉ प्रवीण सिंह दीपक ने स्वामी विवेकानंद के जोशपूर्ण वाक्यों से अपनी बातें शुरू करते हुए कहा कि आज समय आ गया है भारत को फिर से विश्वगुरु बनने का। युवाओं को आगे आना आज समय की अनिवार्य आवश्यकता है।
इन्होंने कहा कि युग निर्माण के संकल्प को युवा मजबूत कर सकता है। आगामी 7,8,9 नवम्बर को श्रावस्ती में होने वाले उत्तर प्रदेश प्रांतीय युग सृजेता समारोह की चर्चा की। शांतिकुंज हरिद्वार का युवाओं के आह्वान स्वस्थ युवा, शालीन युवा, स्वावलंबी युवा, सेवाभावी युवा बनने पर बात की। स्वामी विवेकानंद के जन्मदिवस पर आयोजित युवा दिवस कार्यक्रम में अमेठी के युवा अभिजीत ने स्वामी विवेकानंद के जीवन प्रसंगों को सबके सामने रखा। इन्होंने कहा कि हमे उनके जीवन चरित्र को आत्मसात भी करना चाहिए। अधिवक्ता प्रभात पाण्डेय ने कहा कि स्वामी विवेकानंद के जीवन का हर पहलू आज भी प्रासंगिक है उनके जीवन से हम सब थोड़ी सी भी सीख लें तो जीवन की दिशा सार्थक हो जाएगी।
युवा स्वावलंबी अमित शर्मा ने कहा कि अपनी जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए तमाम साधन उपलब्ध हैं, मेरा प्रयास है कि अमेठी के युवाओं को रोजगार के अवसर यही पर उपलब्ध कराया जाय, जिससे कि अमेठी के अधिक से अधिक युवा स्वावलंबी बन सके। बैंक आफ बड़ौदा के शाखा प्रबंधक विनय कुमार सिंह ने कहा कि हमें गर्व है कि हम सनातनी हैं।
विशिष्ट अतिथि के रूप में युवा महेन्द्र मिश्रा ने कहा कि आज वर्तमान युवा पीढ़ी पाश्चात्य सभ्यता की ओर बढ़ रही है जबकि सनातन धर्म और संस्कृति चिरकाल से विशिष्ट रही है। इन्होंने कहा कि युवा साथियों में बदलाव के लिए नए जोश, नए साहस की जरूरत है। कार्यक्रम में युवा हिमांशु सिंह, डॉ धर्मेन्द्र तिवारी, दिलीप सिंह, कवि अनिरुद्ध ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में नए साहस से भरपूर गीत *आज युग पुकारता, जाग नौजवान रे* ने लोगों में जोश व साहस भर दिया। संचालक पूर्व प्राचार्य डॉ त्रिवेणी सिंह ने कहा कि कुरीतियां हम सबको खोखला बना रही हैं हम सबको राष्ट्र जागरण मेंअपना विशिष्ट योगदान देना है। कुरीतियों से लड़ने की जरूरत है। इन्होंने नारी जागरण, पर्यावरण संरक्षण आदि पर भी चर्चा की। इस मौके पर परिव्राजक इंद्रदेव शर्मा, राधेश्याम तिवारी, गायत्री सिंह, विजयलक्ष्मी सिंह, विशाल शाही, संजय अग्रहरि, अभिषेक गुप्ता, महेश बरनवाल, गोपाल गुप्ता के साथ गायत्री शक्तिपीठ कार्यकर्ता व सैकड़ों की तादाद में अमेठी के युवा मौजूद रहे।

डॉ० प्रवीण सिंह दीपक
युवा प्रभारी
गायत्री परिवार अमेठी जनपद