भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ ने मनाया विश्व हिंदी दिवस

10जनवरी, मोगा, भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ प्रदेश मंत्री देवप्रिय त्यागी ने विश्व हिंदी दिवस पर सभी को बधाई दी। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी अंग्रेजी को ज्यादा और हिंदी भाषा को कम महत्व देती है और इसीलिए हिंदी की अनदेखी को रोकने और विश्?व स्?तर पर इसके व्?यापक प्रचार के लिए हर साल 10 जनवरी को विश्?वहिंदी दिवसका आयोजन किया जाता है। विश्?व में अंग्रेजी, मंदारिन और स्?पेनिश के बाद हिंदी सबसे ज्?यादा बोली जाने वाली भाषा है।
हिंदी का किसी भी स्थानीय भाषा से कोई मतभेद या अंतर्विरोध नहीं है। राष्ट्रभाषा हिंदी भारत की सभी स्थानीय भाषाओं की सखी है
भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ पंजाब के प्रदेश मंत्री देवप्रिय त्यागी ने कहा कि वो जमाना गया जब हिंदी बोलने में संकोच होता था। उन्होंने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर भी हिंदी में बोलते हैं। किसी भी व्यक्ति के मूल्यांकन का आधार उसके विचार, कार्य, बुद्धिमत्ता, कर्मठता और निष्ठा होनी चाहिए, भाषा तो सिर्फ अभिव्यक्ति का माध्यम होती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना में आत्मनिर्भर शब्द सिर्फ उत्पादन व वाणिज्यिक व्यवस्थाओं के लिए नहीं है, हमें भाषा के क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बनना है।
भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ पंजाब प्रदेश संयोजक दिनेश सरपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने नई शिक्षा नीति में राजभाषा व सभी भारतीय भाषाओं को समाहित कर इनके संरक्षण व संवर्धन के लिए बच्चों की पाँचवी तक की शिक्षा उनकी मातृभाषा में कराने का विशेष आग्रह किया है और यह एक मिल पत्थर साबित होगा। साथ ही तकनीकी पाठ्यक्रमों का स्थानीय भाषाओं में अनुवाद भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोई भी बाहर की भाषा हमें भारत की महान संस्कृति व गौरव से परिचित नहीं करा सकती, देश के वैचारिक पिंड से नहीं जोड़ सकती। सिर्फ मातृभाषा ही एक बच्चे को उसकी स्थानीय जड़ों से जोड़कर रख सकती है। जिस दिन आप बच्चे को अपनी मातृभाषा के ज्ञान से वंचित करोगे वो अपनी जड़ों से कट जाएगा।