प्रधानमंत्री के क़ाफ़िले को रोकना ख़तरे को निमंत्रण देने जैसा था.. धर्मवीर तिवारी

प्रमोद गुप्ता 9005392789
सोनभद्र- मोदी जी हमारे सम्मान स्वाभिमान के प्रतीक है
पंजाब सरकार द्वारा करायी गई घटना कठोर निंदा की पात्र है भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष धर्मवीर तिवारी ने कहा की जहाँ समूचा विश्व माननीय मोदी के सम्मान में कमी नहीं करता वही अपने ही देश में अपने ही घर में उन्हें इस तरह का विरोध झेलना पड़ता है।
कोंग्रेस का यह प्रतिरोध अवाम (जनता) के एक बड़े हिस्से का प्रतिरोध करना हुआ।किसी पार्टी विशेष का विरोध जायज़ है परंतु अपने देश के नेतृत्वकर्ता, शान, पहचान के ख़िलाफ़ इस तरह का कायरना व्यवहार;क़ाफ़िले को रोका जाना,आलोचना तो शायद कम है परंतु यह इतनी बड़ी अवाम की भावनाओं के साथ खिलवाड़ जिनके वो नेता हैं,आस है,विश्वास है,इस तरह भारत देश के प्रधानमंत्री के क़ाफ़िले को रोकना ख़तरे को निमंत्रण देने जैसा था..।घर आए अतिथि का स्वागत करना भारतीय परम्परा रही है परंतु कोंग्रेस ने प्रधानमंत्री जी सुरक्षा में चूक करते हुए यह साबित कर दिया की वे आज भी भारतीय संस्कृति और भारतीयों को अपना नहीं पाएँ हैं, इस घटना ने कांग्रेस का चरित्र प्रदर्शित कर दिया पिछले दो सालों से देश जिन हालातों से गुजर रहा माननीय जी भी ऐसे ही पीछे हट जाते तो क्या हम आने वाले तूफ़ान को रोकने योग्य होते ? आज अगर देश में कांग्रेस की सरकार होती तो पंजाब सरकार को बर्खास्त कर दिया गया होता लेकिन इस देश के सबसे प्रधानमंत्री जी ने साफ संदेश दिया निमाज सुरक्षित वापस लौट आया हूं गर्व है ऐसे देश के सबसे प्रधानमंत्री पर।