कानपुर-राष्ट्र पति ने किया ग्रह जनपद मे दो दिनों का दौरा.....

कानपुर-राष्ट्रपति कोविन्द बोले; जाति, संप्रदाय से ऊपर उठें तो जहां रहेंगे वहीं बनेगा स्वर्ग

कानपुर में जाति, संप्रदाय, अमीर-गरीब से ऊपर उठकर लोगों के साथ जुड़ेंगे तो हम जहां रहते हैं वहीं स्वर्ग बन जाएगा। यह बात बुधवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने कही। वह मेहरबान सिंह का पुरवा स्थित चौधरी हरमोहन सिंह पैरामेडिकल साइंस एंड नर्सिंग संस्थान में स्वर्गीय चौधरी हरमोहन सिंह यादव के जन्म शताब्दी समारोह को संबोधित कर रहे थे।

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के करीबी रहे चौधरी हरमोहन सिंह की तारीफ करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि जब ट्रेन में सफर करते थे तो जो अनजान भी होते थे, उन्हें भी हमसफर मानते थे। हमसफर की यही भावना यदि समाज में अपने पास पड़ोस में भी चरितार्थ हो जाए और जाति, संप्रदाय, अमीर गरीब को भूल लोगों को अपनाएं तो जहां रहते हैं वहीं स्वर्ग बन जाएगा। उन्होंने बताया कि 1984 में हरमोहन सिंह यादव ने जान जोखिम में डालकर उन्मादी भीड़ का सामना किया था। उन्होंने गणेश शंकर विद्यार्थी की परंपरा को आगे बढ़ाया जिसकी वजह से 1991 में उन्हें शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में बहुत काम किया और देश के विकास में शिक्षकों की छात्रों की प्रभावी भूमिका रही है।

उन्होंने कहा कि आज भारत और भारतीयों को पूरे विश्व में आदर मिल रहा है। भारत के विकास में हम सबकी सक्रिय भागीदारी होनी चाहिए। किसी भी राष्ट्र के उज्ज्वल भविष्य की नींव, अतीत के अनुभव और पूर्वजों की विरासत से मजबूती प्राप्त करती है। एक सुदृढ़, यशस्वी, विकसित और समृद्ध भारत के निर्माण में हम सभी की सक्रिय भागीदारी होनी चाहिए। हमें मिल-जुलकर प्रयास करने चाहिए। हमारे देश का हर एक हाथ देश की उन्नति में एक साथ उठना चाहिए। विश्व के अग्रणी राष्ट्रों की पंक्ति में शामिल होने के लिए 130 करोड़ देश वासियों के कदम एक साथ आगे बढऩे चाहिए। कार्यक्रम में प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, राज्यसभा सदस्य सुखराम ङ्क्षसह और चौधरी हरमोहन ङ्क्षसह जन कल्याण समिति के अध्यक्ष मोहित यादव मौजूद रहे।

चकेरी एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री ने किया स्वागत: चकेरी एयरपोर्ट के रनवे पर राष्ट्रपति का विमान उतरा। यहां राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया। इसके बाद राष्ट्रपति हेलीकाप्टर से कार्यक्रम स्थल के लिए रवाना हुए।