वायरल वीडियो रेंजर के गले की बनी फांस, कार्रवाई तय

कमिश्नर बोले, जांच के बाद रेंजर के खिलाफ होगी कार्रवाई
मुख्य वन संरक्षक ने कहा रेंजर का कृत्य क्षम्य नहीं, डीएफओ के नेतृत्व में टीम जांच करेगी, जांच के बाद होगी कार्यवाही

मिर्जापुर। पत्रकार प्रेस क्लब के प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम पाठक के नेतृत्व में मंगलवार को विंध्याचल मंडल के आयुक्त कार्यालय पर दर्जनों पत्रकारों ने पहुंचकर पीड़ित पत्रकार सत्यदेव द्विवेदी जी के मामले में मंडलायुक्त योगेश्वर राम मिश्रा से मुलाकात कर उन्हें पत्रक सौंपा। मंडलायुक्त ने कहा कि उक्त मामले की गंभीरता से जांच कर पीड़ित पत्रकार के साथ न्याय किया जाएगा और दोषी रेंजर के खिलाफ कार्रवाई होगी।
वहीं इसके पश्चात घुरहूपट्टी पहुंचकर मुख्य वन संरक्षक रमेश चंद्र झा को भी पीपीसी ने पत्रक सौंपा। मुख्य वन संरक्षक ने कहा कि रेंजर द्वारा किया गया कृत्य निंदनीय है। वायरल वीडियो देखने से यह स्पष्ट होता है कि रेंजर ने गंभीर अपराध किया है। उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए कहा कि इस मामले की जांच गैर जनपद के डीएफओ की अध्यक्षता में टीम गठित कर जांच कराएंगे। जांच रिपोर्ट आने के बाद रेंजर के विरुद्ध निलंबन की कार्रवाई की जाएगी।
इस दौरान पीपीसी के प्रदेश अध्यक्ष घनश्याम पाठक के साथ पीपीसी के वरिष्ठ प्रदेश सचिव विजय शंकर विद्रोही, प्रदेश मीडिया प्रभारी विनय कुमार पांडे, पीपीसी मिर्जापुर के जिलाध्यक्ष आशीष तिवारी, जिला उपाध्यक्ष रमेश शर्मा, जिला महासचिव अख्तर हाशमी, श्यामू सत्यदेव द्विवेदी, निजामुद्दीन, तौसीफ, चंदन कुमार, संतोष मिश्रा, टीपू सुल्तान, नीरज शर्मा रोहित, सूरज उपाध्याय, आशीष पांडेय, चन्दन पांडेय,सहित कई पत्रकार उपस्थित रहे।