फुलवार में वर्षो से टूटी समोही नाला नही बनने से आक्रोशित किसानों ने किया प्रदर्शन

प्रमोद गुप्ता (9005392789)

उपेंद्र तिवारी (दुद्धी)

ग्रामीणों ने आगामी विधानसभा चुनाव में वोट बहिस्कार का भी दिया चेतावनी

ग्रामीणों ने जमकर लगायें नारा- विकास नही तो ,वोट नही

(विंढमगंज) सोनभद्र - विकासखंड दुध्दि के अंतर्गत रांची रीवा राष्ट्रीय राजमार्ग से सटे व जंगलों से लगे फुलवार गांव में स्थित घघिया बंधी बीते 6 वर्ष पूर्व भारी बारिश के कारण ज्यादा पानी एकत्रित हो जाने से टूट गई थी जो आज तक नहीं बनने से आक्रोशित ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान दिनेश कुमार यादव की अगुवाई में जोरदार प्रदर्शन कर बांध को तत्काल बनवाए जाने की मांग की है बांध नहीं बनने पर आगामी विधानसभा चुनाव में वोट बहिष्कार के साथ-साथ हड़ताल भी करने की चेतावनी दी है

थाना क्षेत्र के अंतर्गत फुलवार ग्राम पंचायत में स्थित घघीया बंधी लगभग 6 वर्ष पूर्व भारी बारिश के कारण एकत्रित हुए पानी के दबाव से टूट गई थी बंधी के निर्माण के लिए ग्रामीणों ने कई बार दुद्धी में लगने वाले तहसील दिवस के माध्यम से जिले के आला अधिकारी को अवगत भी कराया था मौके पर विभाग के अधिकारी भी मुआयना किए परंतु बंधे की मरम्मत आज तक नहीं हुई अब इससे ग्रामीणों में इस बात का और रोष बढ़ता जा रहा है कि धान की फसल कट जाने के बाद गेहूं की फसल के लिए पानी की व्यवस्था इसी बंधी से हो जाया करती थी परंतु बंधी टूट जाने से बरसात का सारा पानी एकत्रित नहीं हो सका तो हम किसान गेहूं की फसल कैसे पैदा करेंगे बरसात के पानी इस बंधी में जमा होने से इस बंधी मे पानी लबालब रहा करती थी जो टूट जाने के कारण बंधी आज अपने हाल पर रो रही है ग्रामीणों की मांग पर कई बार विभागीय अधिकारियों के द्वारा आश्वासन भी मिले बावजूद आज तक बंधी का निर्माण नहीं होने के कारण गेहूं की फसल के लिए चिंता बढ़ गई है बंधी के टूटने से आसपास के क्षेत्र का जलस्तर भी नीचे चला गया है जिससे गर्मी में पानी के लिए काफी समस्या उत्पन्न हो जाती है ग्रामीणों ने कहा कि बंधी के टूट जाने से खेती हम किसानों के लिए रामभरोसे हो गई है गांव के ग्राम प्रधान दिनेश यादव ने प्रदर्शन के दौरान मौके पर कहा कि अभी कुछ दिन पहले तहसील दिवस के माध्यम से अधिकारियों के समक्ष गुहार लगाई गई थी तो मौके पर सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता मुस्ताक ने निरीक्षण किया तथा कहा था कि मरम्मत कार्य के लिए उच्च अधिकारियों से वार्ता किया जाएगा और जल्द मरम्मत हो जाएगा परंतु समय बीत जाने के बाद भी मरम्मत कार्य का कोई अता पता नहीं चला प्रधान ने कहा कि यह गांव की सबसे बड़ी बंधी है इस बंधी से आसपास के लोग सैकड़ों बीघा खेत की सिंचाई करके अपनी आजीविका चला लिया करते थे यह बांध जंगल के किनारे होने के कारण जंगली जानवर समेत पशु पक्षियों को प्यास बुझाने के लिए भी अहम भूमिका रहा करती थी आज प्रदर्शन करने वालों में ग्राम प्रधान समेत वार्ड सदस्य ईश्वरी घसिया, घुराराम, अशोक भारती, लीलावती देवी के अलावा बिहारी कनौजिया, पुनीता देवी, अयोध्या चेरो, टिंकल कुमार, अनीता देवी, तेतरी देवी, सुनीता चेरो, पुन्नू घसिया, बिहारी भुईया, सहित दर्जनों किसान मौजूद थे

इस बाबत उप जिलाधिकारी दुद्धी रमेश कुमार से सेल फोन पर वार्ता किया गया तो कहा कि टूटी हुई बंधी की शिकायत हमारे संज्ञान में है बंधी की मरम्मत के लिए संबंधित विभाग को निर्देशित किया गया है पुःन निर्देशित कर दिया जा रहा है किसानों के हित के लिए जल्द ही बंधी का मरम्मत कार्य करा दिया जाएगा