त्रिपुरारी पाण्डेय कि रिपोर्ट/ पचास हजार लोगो को जल संचयन के लिए जागरूक करेगा एनवाईके-डा अंकुर लाठर 

पचास हजार लोगो को जल संचयन के लिए जागरूक करेगा एनवाईके-डा अंकुर लाठर

*मतदाता जागरूकता कार्यक्रम से लोकतंत्र मजबूत होगा-संजीव कुमार मौर्य

*अमेठी जल बिरादरी का सहयोग अतुलनीय "कैच द रेन "परियोजना मे

अमेठी। विकास भवन के सभागार में नेहरू युवा केंद्र अमेठी की ओर से जिला स्तरीय कैच द रेन का द्वितीय चरण का उद्घाटन मुख्य विकास अधिकारी डॉ अंकुर लाठर ने अधिकारी एवं युवा मंडलों के पदाधिकारियों को जल संचय की शपथ दिलाई। सीडीओ ने कहा कि पूरे जनपद में मतदाता जागरूकता कार्यक्रम के साथ कैच द रेन का कार्यक्रम भी आयोजित किया जाएगा। सभी अधिकारी कार्यक्रम को सफल बनाने को योगदान व सहयोग करें। सीडीओ ने इस दौरान नेहरू युवा केंद्र की ओर से गठित युवा मंडलों के पदाधिकारियों की निकाली गई मतदाता जागरूकता को बाइक रैली को हरी झंडी दिखाकर गांवों के लिए रवाना किया। जिला अधिकारी अरुण कुमार एवं सीडीओ डॉ अंकुर लाठर के निर्देश पर जिले में कैच द रेन का कार्यक्रम 25 अक्टूबर 2021 से संचालित है। जिले के पांच विकास खंडों में 50 ग्राम पंचायतों के युवा 500 युवा मंडलों के पदाधिकारियों के 50000 लोगों को जल संचयन के लिए जागरूक किया जाएगा। नेहरू युवा केंद्र अमेठी की उपनिदेशक डॉ आराधना राज ने अधिकारियों एवं युवा मंडल के पदाधिकारियों का आभार व्यक्त किए।और जिले में मतदाता जागरूकता एवं स्वच्छता अभियान के तहत युवा मंडलों एवं छात्र छात्राओं की ओर से किए गए अच्छे कार्यों के लिए उन्हें मूवमेंटो और प्रमाण पत्र व मेडल पहनाकर सम्मानित किया गया। नेहरू युवा केंद्र की उपनिदेशक डॉ आराधना राज ने बताया कि नेहरू युवा केंद्र की ओर से 1 नवंबर 2021 से 30 नवंबर 2021 तक मतदाता जागरूकता के दौरान जिले के सभी विकास खंडों में राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवकों की ओर से कैच द रेन ,चित्रकला, भाषण, नारा लेखन और रंगोली प्रतियोगिताओं के कार्यक्रम संचालित रहेंगे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जनपद भूगर्भ परिषद के सदस्य, अमेठी जल बिरादरी के संयोजक डॉ अर्जुन पांडेय ने कहा कि जल संकट से उबरने के लिए जल संचयन ही एक मात्र रास्ता है, जिससे जल बचाया जा सकता है। आने वाले भविष्य में अगर लोग जल के प्रति सचेत नहीं हुए तो पीने के लिए भी हमें पानी नहीं मिल पाएगा। गांवों में स्थित छोटे छोटे तालाबों एवं नदियों की साफ -सफाई करके भूगर्भ जल को उठाकर एवं जल संचयन करके जनपद की नदियों का पुनर्जीवित किया जा सकता है । इस अवसर पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट संजीव कुमार मौर्य, जिला विकास अधिकारी तेजभान सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष दुबे, लेखा अधिकारी आशुतोष मिश्र, आरआर पी जी कॉलेज अमेठी के एन एस एस के कार्यक्रम अधिकारी डॉ धनंजय सिंह, लेखाकार शिव शंकर यादव, जनपद के सभी इंटर कॉलेज डिग्री कॉलेज के शिक्षक राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवक आलोक, विवेक मिश्रा, अंजली तिवारी, अंजू पाल, इंदू पाल, सुमित्रा देवी, विकास शुक्ला, आकाश आदि लोग कार्यक्रम में उपस्थित रहे।