छत्तीसगढ़ में 15 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, आंध्र प्रदेश में नया स्ट्रेन मिलने का बाद बस्तर में अलर्ट

रायपुर(छत्तीसगढ़):-छत्तीसगढ़ राज्य के लगभग सभी जिलों में लॉकडाउन 15 मई तक बढ़ा दिया गया है। राज्य के ज्यादातर जिलों में पॉजिटिविटी रेट में कमी नहीं आने और पड़ोसी राज्य आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिलने के बाद सरकार ने ये फैसला लिया है. वहीं बस्तर के जिलाधिकारी को सरकार की तरफ से एक मैसेज दिया गया है. इसमें कहा गया है कि आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिला है, जो कि बहुत खतरनाक है. ये स्ट्रेन बस्तर जिले में भी फैल सकता है. इस लिए जिले के बॉर्डर पर पूरी सख्ती बरती जाए और बॉर्डर चेकिंग, टेस्टिंग की जाए. साथ ही लॉकडाउन भी बढ़ाया जाए.
सरकार के प्रवक्ता ने बताया है कि सभी जगहों पर लॉकडाउन 15 मई तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है.

राज्य की राजधानी रायपुर और दुर्ग में कुछ छूट

राज्य की राजधानी रायपुर और दुर्ग जिले में पॉजिटिविटी रेट कम हुआ है इसलिए यहां कई रियायतों के साथ 15 मई तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है. जिलाधिकारी को दिए गए निर्देशों में कहा गया है कि बॉर्डर के लगे जिलों में सीमा पर सख्ती के साथ निगरानी की जाए. इसी के साथ इन इलाकों में टेस्टिंग और चेक पोस्ट की व्यवस्था भी की जाए.

शराब की दुकानें अभी रहेंगी बंद

सभी 28 जिलों में शराब की दुकानें बंद रहेंगी. शादी और अंतिम संस्कार के कार्यक्रमों में कोरोना नियमों और केंद्र सरकार व राज्य स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी निर्देशों का पूरी तरह से पालन करना होगा. राज्य सरकार ने सभी 28 जिलों के लिए अलग-अलग गाइडलाइन जिलाधिकारियों को जारी कर दी है.

बॉर्डर पर सख्ती से हो निगरानी

जिलाधिकारी को दिए गए निर्देशों में कहा गया है कि बॉर्डर के लगे जिलों में सीमा पर सख्ती के साथ निगरानी की जाए. इसी के साथ इन इलाकों में टेस्टिंग और चेक पोस्ट की व्यवस्था भी की जाए. रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा और सिर्फ अस्पताल, दवा दुकानें, पशु चारे की दुकानें, पेट्रोल पंप और होम डिलीवरी सेवाओं को ही अनुमति दी गई है.

रायुपर और दुर्ग से अच्छी खबर

छत्तीसगढ़ पिछले एक महीने से कोरोना वायरस की दूसरी लहर से लड़ रहा है. पिछले कई दिनों से राज्य में रोजाना 15 हजार नए मामले सामने आ रहे हैं. वहीं पॉजिटिविटी रेट भी 25 से 30 प्रतिशत के बीच रह रहा है. कोरोना से रोजाना लगभग 200 लोगों की जान जा रही है. शुरूआत में रायपुर और दुर्ग में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े थे. लेकिन अब वहां हालात सामान्य हो रहे हैं. जबकि अब बिलासपुर, रायगढ़ और कोरबा ने रोजाना एक हजार से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं.