लॉक डाउन  के चलते,व्यापार व्यवसाय ठप होने से गरीबों के सामने,खाने पीने की आई परेशानी।

रायपुर- जिनके राशन कार्ड बने हुए हैं गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे हैं उन्हें तो शासन द्वारा छत्तीसगढ़ प्रदेश में दो महीने का राशन मिल जाएगा, लेकिन उन लोगों का क्या होगा जो गरीब परिस्थिति के हैं और जिनका नाम राशन कार्ड में नहीं है। इन लोगों में ज्यादातर ठेलो में अपना व्यापार जैसे गुपचुप चाट,सब्जी,मजदूरी एवं ड्राइवरी, कंडक्टरी,कबाड़ बीनकर अपने परिवार का पालन पोषण करने वाले के सामने अपनी रोजी रोटी और खाने-पीने की परेशानी आ रही है। ऐसी परिस्थिति में क्या उन लोगों की मदद करने शासन प्रशासन राशन उपलब्ध करवा पाएगा।
कुछ ऐसी परिस्थिति के लोगों से आज बातचीत हुई जिसमें उन्होंने जानकारी दी की घर में खाने पीने की बहुत ज्यादा परेशानी चल रही है। राशन कार्ड में नाम ना होने के कारण हमें राशन भी नहीं मिल रहा है। हम शासन प्रशासन से मांग करते हैं कि हमे भी राशन शासन द्वारा उपलब्ध करवाया जाए ताकि हमारा परिवार मे कोई भूखा ना रहे।।