पूर्णिया। कटिहार-पूर्णिया मुख्य एनएच पर बुधवार को मुफस्सिल थाना चौक से सतडोब तक सड़क जाम रहा

पूर्णिया। कटिहार-पूर्णिया मुख्य एनएच पर बुधवार को मुफस्सिल थाना चौक से सतडोब तक सड़क जाम रहा जिससे यात्रियों सहित मरीजों को ले जा रहे एंबुलेंस को भी घंटों इंतजार करना पड़ा। पीड़ादायक स्थिति यह थी कि एंबुलेंस के सायरन सांय-सांय बज रहे थे, लेकिन बगल में स्थित थाने की पुलिस के कानों पर जूं तक नहीं रेंगा। एंबुलेंस में मरीज की स्थिति लगातार बिगड़ रही थी और स्वजन सबों के सामने किसी तरह गाड़ी निकाल देने की गुहार लगा रहे थे। उनकी हालत देख स्थानीय लोग आगे आए तथा काफी मशक्कत के बाद किसी तरह एंबुलेंस को निकाला गया।


दरअसल मुफस्सिल थाना के समीप धर्म कांटा है जिसके कारण प्रतिदिन सड़क पर ट्रकों की लंबी कतार लगी रहती है। रानीपतरा रेक प्वाइंट में मक्का लोड ट्रक व ट्रैक्टरों का आना शुरू हो गया है। जिस वजह से मुख्य सड़क पर वाहन खड़े रहते हैं तथा जाम लग जाता है। जिससे अन्य वाहनों को वहां से निकलने में काफी मश्क्कत करनी पड़ती है। बुधवार को धर्मकांटा के समीप लगे वाहनों के आड़े-तीरछे खड़े रहने के कारण जाम लग गया। जाम लगने से मुख्य मार्ग के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई। जाम इतना सख्त था कि साइकिल व मोटरसाइकिल सवार को भी गुजरना मुश्किल हो गया था। घंटों मशक्कत के बाद सड़क पर लोगों ने वाहनों को आगे-पीछे कर यातायात चालू कराया।

  • बताते चले कि रानीपतरा रैक पाइंट के कारण आए दिन यहां जाम की समस्या से लोगों को जूझना पड़ता है। प्रशासन इसको लेकर गंभीर नहीं है। जबकि कटिहार-पूर्णिया मार्ग से प्रतिदिन हजारों यात्री सफर करते हैं। जाम में फंसे लोगों ने बताया कि जाम लगे स्थल से मुफस्सिल थाना की दूरी कम होने के बावजूद कोई सख्ती नहीं दिखाई जाती है। वे लोग जब भी इस रूट से जाते हैं तो यही डर लगा रहता है कि कहीं मुफस्सिल थाना के समीप जाम ना पकड़ा जाए। लोगों ने बताया कि इस जाम में कई बार कटिहार मेडिकल कॉलेज जाने वाले एंबुलेंस मरीज को लेकर फंसे रहते हैं और सायरन बजती रहती है लेकिन कोई भी मदद के लिए आगे नहीं आता। यात्रियों ने कहा कि धर्म कांटा की वजह से यह जाम लगता है। धर्म कांटा की अलग वैकल्पिक व्यवस्था होनी चाहिए ताकि आम लोगों को परेशानी नहीं होhttp://400