पंचायत चुनाव में सत्ता पक्ष के दबाव में पुलिस प्रशासन

जिला पंचायत मऊ के वार्ड नंबर 1 दुबारी में सत्ता के दबाव में पुलिस प्रशासन बीजेपी से अधिकृत उम्मीदवार अभिषेक सिंह को गांव में मीटिंग करने के लिए खुली छूट दे रखी है । वहीं दूसरी तरफ कांग्रेश पार्टी के अधिकृत उम्मीदवार सर्वेश सिंह को बिना किसी कारण पुलिस प्रशासन बार-बार प्रताड़ित करने का कार्य कर रही है और उनकी मोटरसाइकिल तक को पुलिस चौकी में बंद किया जा रहा है ।कांग्रेश पार्टी के जिला सचिव शिवाजी कनौजिया ने जब चौकी इंचार्ज दुबारी से इस मुद्दे पर बात किया तब चौकी इंचार्ज सही बात करने के बजाए इधर उधर की बातें करने लगा और धमकी देने लगा । जिससे साफ लगता है कि पुलिस प्रशासन के लोग सत्ता के दबाव में इस कदर डूबे हुए हैं कि उनको सही और गलत की पहचान भी नहीं हो पा रही । शिवाजी कनौजिया ने बताया यह सरकार चंद दिनों की सरकार है और जो भी पुलिस कर्मचारी सत्ता के दबाव में इस तरीके का घृणित कार्य कर रहे हैं । उनसे आने वाले समय में कांग्रेस पार्टी सही और गलत कार्यों का हिसाब लेगी । और इन सभी तथ्यों को सबूत के साथ कांग्रेस पार्टी चुनाव आयोग तक भी लेकर जाएगी । ऐसे भ्रष्ट प्रशासन के रहते हुए निष्पक्ष चुनाव कराया जाना संभव नहीं है अतः कांग्रेस पार्टी तत्काल प्रभाव से चुनाव आयोग से यह मांग करती है की पुलिस चौकी दुबारी के चौकी इंचार्ज गंगाराम बिंद को तत्काल प्रभाव से हटाया जाए जिससे वहां निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव हो सके वरना चुनाव आयोग के ऊपर तो ऐसे भी सवालिया निशान लग रहे हैं। अब जरूरत चुनाव आयोग को अपने आप को निष्पक्ष साबित करने की है।और जरूरत पड़ी तो ऐसे भ्रष्ट प्रशासन के खिलाफ कांग्रेश पार्टी सड़क से लेकर सदन तक लड़ेगी ।