सयुंक्त किसान मोर्चा ने प्रशासनिक अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों को दूषित पानी पिलाने की दी चेतावनी

श्रीगंगानगर के पदमपुर गंगनहर में आ रहे प्रदूषित व जहरीले पानी की रोकथाम करने व जिले में शुद्ध पेयजल के प्रबंध करने की मांग को लेकर सयुंक्त किसान मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपा व अतिशीघ्र समाधान नही होने पर प्रशासनिक अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों को जबरन गन्दा पानी पिलाने की चेतावनी दी कॉमरेड रविन्द्र तरखान ने कहा कि सतलुज व व्यास नदी के पानी में जल समझौते के अनुसार राजस्थान का 65 फीसद पानी का हिस्सा है इस पानी में पंजाब के शहरों के सीवरेज और उद्योगों के कैमिकल युक्त अपशिष्टों के रुप में जहर घोला जा रहा है तीनों नहर परियोजनाओं में 2000 क्यूसेक से अधिक जहरीला पानी रोजाना राजस्थान में पहुँच रहा है उन्होंने कहा जिले में चिकित्सा सुविधाएं भी इतनी बेहतर नही है कि लोग जहरीले पानी से होने वाली कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज करवा सके तरखान ने कहा जनसंख्या घनत्व के आधार पर सबसे बड़ा जिला होने के बावजूद श्रीगंगानगर सरकार की अनदेखी और जनप्रतिनिधियों की लाचारी का शिकार है!

सुखवीर सिंह फौजी ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार सतलुज नदी के पानी से सिंचित क्षेत्र में दूसरे क्षेत्र के मुकाबले 160 गुणा कैन्सर के रोगी बढ़े है फौजी ने कहा कि सिंचाई विभाग व पीएचईडी की लापरवाही से बन्दी के दिनों में जनता जहरीला पानी पीने के लिए विवश हो जाएगी।

देवेंद्र सिंह ढिल्लों ने कहा ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में सरकार शुद्ध पेयजल मुहैया करवाने में नाकाम रही है, पानी की शुद्धता के लिए उपयुक्त सामग्री तक जलदाय विभाग के पास नही है!ज्ञापन सौंपते हुए मास्टर बलवीर सिंह ने एसडीएम से जलदाय विभाग को पाबंद करने व राज्य सरकार को वास्तविक स्थिति भेजने की मांग की इस मौके पर कॉमरेड रविन्द्र तरखान, सुखवीर सिंह फौजी, मास्टर बलवीर सिंह, सरपंच महावीर बिश्नोई,��सोनू तूर, जसवीर सिंह 9 डीडी,��जसपाल संधू, बलजीत सिंह भमराह, महिमा सिंह, मनोज भार्गव, वीरेंद्र बराड़, काका धालीवाल, जगमोहन सिंह 18 बीबी, बब्बू ढिल्लों, कुलदीप संधु,���जसवीर सिंह, वीरेंद्र शेरगिल, अनिल मण्डा, इकबाल सिंह 12 बीबी, राजवीर सिंह सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे!