पुलिस अधीक्षक ही बताएं.? सिर्फ आम आदमीयों व गरीबों के लिए मास्क लगान व नियम कानून फालो होता है.? पुलिस के लिए नहीं

प्रमोद गुप्ता 9005392789

सोनभद्र /कोविड-19 को लेकर जहां सड़कों पर बिना हेलमेट मास्क के चलने वाले आम जनता को देखकर दौड़ा कर पुलिस द्वारा खुलेआम चालान काटा जाना.? लोगोंं में पुलिस केे कार्यशैली के प्रति लोगों में भय का माहौल बना रहना.?

पूरे क्षेत्र में चर्चा विषय बन गया है.? वहीं दूसरी तरफ लोगों का कहना है कि पुलिस अधीक्षक स्वयं देख ले.? कि विभाग के लोग कितना मानक व नियमों का पालन स्वयं कर रहे हैं। क्या सिर्फ आम जनता के लिए ही नियम कानून लागू होता है.? या पुलिस के लिए भी है.?

लोगों की माने तो पुलिस प्रशासन द्वारा सभी थाने चौकी व मुख्य मार्ग पर बिना मास्क व हेलमेट के चलने वालों का बिना कहे पूछे चालान काट दिया जा रहा है। किंतु वहीं दूसरी तरफ जनपद में मुख्य मार्गों पर विभागीय के लोगों द्वारा खुलेआम नियमों को ताक पर रखकर बिना हेलमेट व मास्क के गाड़ियों का चलाया जाना व कार्यवाही न किया जाना एक सोच व चर्चा का विषय बन गया है चर्चा है कि उनको रोकने टोकने व बोलने वाला कोई नहीं.?क्यों

क्योंकि वह विभागीय लोग हैं पुलिस कुछ भी करें उसको बोलने वाला कोई नहीं.? और जनता बोले तो.? आम जनता हर तरह प्रताड़ित होता है.? आम आदमी के मामले में कितना सुनवाई होता है यह किसी से छिपा नहीं.?