एक महिला ने दिया तीन बच्चों को जन्म।

एक महिला ने दिया तीन बच्चों को जन्म।

रोहतक संजय पांचाल

कोरोना के संक्रमण काल में पीजीआईएमएस की तर्ज पर जिला अस्पताल के गाइनिकोलॉजिस्ट भी बतौर कोरोना योद्धा काम कर रहे हैं। शुक्रवार को जिला अस्पताल में डॉक्टरों की टीम ने एक गर्भवती महिला की पहले रैपिट किट से कोरोना की जांच की फिर सिजेरियन डिलिवरी कराई। महिला ने एक साथ तीन बच्चों को जन्म दिया है। इनमें एक लड़का और दो लड़की हैं। सभी बच्चों का वजन करीब 1800-1800 ग्राम है। तीनों बच्चे स्वस्थ हैं लेकिन फिलहाल उन्हें निकू वार्ड में रखा गया है।

हुमायुंपुर गांव से आई महिला की जांच में जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने पाया कि उसके गर्भ में तीन बच्चे हैं। डॉ. देवेंद्र कौर की अगुवाई में टीम बनाई और डॉ. नित्याशा के साथ मिलकर सिजेरियन डिलिवरी करवाई। टीम में डॉ. मोनिका, डॉ. गुलशन, स्टाफ नर्स चंद्रकांता, मोहित, नरेंद्र व मंजीत आदि शामिल रहे।
जिला अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. रमेश चंद्र ने बताया कि टीम बेहतर काम कर रही है। तीनों बच्चे और मां स्वस्थ्य हैं। जिला अस्पताल के रिकार्ड में पहली बार ट्रिपलेट डिलिवरी करवाई गई है। सबसे अहम बात यह है कि एक घंटे में सिजेरियन करने का निर्णय लेना पड़ा। इतने कम समय में कोरोना टेस्ट के लिए महज रैपिड किट जांच ही संभव थी।